मिर्गी का कारगर इलाज : मिर्गी रोग का मुख्‍य कारण तंत्रिका तंत्र है। इसे अपस्‍मार व एपिलेप्‍सी _ Epilepsy भी कहते हैं। 10 से 20 वर्ष के बच्‍चे भी इसकी चपेट में आ सकते हैं। दौरा पड़ने पर रोगी...
तेलों में अनेक औषधीय गुण हैं। अलग-अलग तेलों के अलग-अलग प्रभाव होते हैं। इनमें कुछ ऐसे तेल हैं जो शीघ्रपतन दूर कर लिंग को कड़ा, मोटा व सुडौल बनाते हैं। पतलापन, टेढ़ापन दूर हो जाता है। आज कुछ ऐसे...
कभी-कभार शरीर पर लाल रंग के चकत्ते पड़ जाते हैं और खुजली होने लगती है। इस रोग को शीतपित्त या आर्टिकेरिया कहते हैं। इसे जितना खुजलाया जाए, खुजली उतनी ही बढ़ती जाती है। यह रोग एलर्जी के चलते होता...
आमतौर पर हम मच्‍छरों के प्रकोप से बचने के लिए कोई रासायनिक टिकिया, लिक्विड या क्‍वायल उपयोग में लाते हैं।  यह मच्‍छरों को भगा तो देता है लेकिन हमारे कमरे का वातावरण भी दूषित कर देता है। एक क्‍वायल...
रक्त संचार ‌_ Blood Circulation में जब बाधा पहुंचती है तो शिराओं में रक्‍त सुगमता से प्रवाहित नहीं हो पाता। साथ ही रक्त को वापस हृदय तक ले जाने वाली शिराओं में सूजन आ जाता है और वे मोटी...
बालों का असमय पकना, झड़ना आजकल आम बात हो गई है। कम उम्र में ही बाल सफेद होने लगे हैं और झड़ने लगे हैं। इससे गंजापन बढ़ा है। पहले एक ख़ास उम्र के लोगों के ही सिर पर बाल...
मस्‍सों का मूल कारण पैपीलोमा वायरस _ Papilloma Virus है। इसकी वजह से शरीर पर जगह-जगह छोटे-छोटे खुरदरे कठोर पिंड बन जाते हैं जिन्‍हें मस्‍सा कहते हैं। यदि अनचाहे मस्से चेहरे पर हैं तो ख़ूबसूरती प्रभावित करते हैं। ये...
नवजात के लिए माता का दूध अमृत समान है। इसीलिए इसे पीयूष कहा जाता है। बच्‍चे का पहला आहार वही है, उसी से बच्‍चे का जीवन आगे बढ़ता है और पुष्‍ट होता है। बच्‍चे को यदि माँ का दूध...
सोते हुए या एक ही मुद्रा में देर तक बैठे रहने से कभी-कभी शरीर के अंग सुन्न हो जाते हैं। आमतौर पर सोते हुए कोई बांह या पैर दब जाने से उसमें सुन्नता आ जाती है। यह मूलत: रक्‍त...
तेज़ धूप में सूर्य की किरणों से शरीर की कोमल त्‍वचा का रंग बदल जाता है। ख़ासतौर से खुले अंगों पर सांवलापन या कालापन आ जाता है। इसे सनबर्न भी कहते हैं। चूंकि दोपहर के बाद सूर्य जब दक्षिणायन...

STAY CONNECTED

12,049FansLike
6,094FollowersFollow
316FollowersFollow

Latest Lifestyle Tips