बालों का असमय पकना, झड़ना आजकल आम बात हो गई है। कम उम्र में ही बाल सफेद होने लगे हैं और झड़ने लगे हैं। इससे गंजापन बढ़ा है। पहले एक ख़ास उम्र के लोगों के ही सिर पर बाल...
कहा जाता है कि रोग शरीर में कहीं हो, मुंह में न हो। मुंह में जब छाले पड़ जाते हैं तो खाने-पीने को कौन कहे, थूक तक निगलना मुश्किल हो जाता है। पेट की गर्मी, कब्‍ज़, गैस, असंतुलित आहार...
गर्मियों के मौसम में सूरज का पारा बढ़ जाता है, जमीन का पानी सूख जाता है, हवा खुश्क हो जाती है और तापमान बहुत ज्यादा बढ़ जाता है। वातावरण में होने वाले इस बदलाव के कारण हम मनुष्यों जीवों...
हमारी पूरी शारीरिक संरचना में दिमाग़ की अहम भूमिका है और विकास में बुद्धि का। हमारे समय का लगभग केंद्र बिंदु बन चुका तनाव हमें इन दोनों से महरूम कर सकता है। इसलिए खान-पान में थोड़ा बदलाव कर और...
नवजात के लिए माता का दूध अमृत समान है। इसीलिए इसे पीयूष कहा जाता है। बच्‍चे का पहला आहार वही है, उसी से बच्‍चे का जीवन आगे बढ़ता है और पुष्‍ट होता है। बच्‍चे को यदि माँ का दूध...
रक्त संचार ‌_ Blood Circulation में जब बाधा पहुंचती है तो शिराओं में रक्‍त सुगमता से प्रवाहित नहीं हो पाता। साथ ही रक्त को वापस हृदय तक ले जाने वाली शिराओं में सूजन आ जाता है और वे मोटी...
अनियमित जीवनचर्या व अनियमित खान के चलते पेट में गैस की समस्या आजकल आम है। लगभग हर व्‍यक्ति कमोबेस गैस की समस्‍या से पीड़ित है। गैस के स्‍थायी इलाज की कोई दवा अभी तक एलोपैथ में नहीं है। लेकिन...
तेज़ धूप में सूर्य की किरणों से शरीर की कोमल त्‍वचा का रंग बदल जाता है। ख़ासतौर से खुले अंगों पर सांवलापन या कालापन आ जाता है। इसे सनबर्न भी कहते हैं। चूंकि दोपहर के बाद सूर्य जब दक्षिणायन...
तलवे की जलन के उपाय: भागदौड़ के समय में संतुलित व पौष्टिक आहार मिलना थोड़ा मुश्किल हो गया है। यदि मिल भी गया तो आराम का सर्वथा अभाव है और उसका पूरा-पूरा फ़ायदा शरीर को मिल नहीं पाता है।...
स्‍वस्‍थ शरीर के लिए रक्त की शुद्धता आवश्‍यक है। यदि रक्‍त शुद्ध नहीं है तो फोड़ा-फुंसी, त्‍वचा रोग, अपच आदि की समस्‍या उत्‍पन्‍न होती है। इससे वज़न भी गिरता जाता है। हमारे दूषित खानपान की वजह से रक्‍त में...

STAY CONNECTED

11,948FansLike
6,094FollowersFollow
312FollowersFollow

Latest Lifestyle Tips