Home पेट सम्बंधित समस्या
आजकल खानपान के चलते कब्ज़ एक आम समस्‍या है। अब मोटे अनाज विदा हो गए, गेहूं का बहुत बारीक़ पिसा आटा खाया जाने लगा। इससे कब्ज़ की समस्‍या उत्‍पन्‍न हो रही है। आज हम कब्ज़ से आसानी से निजात...
आधुनिक जीवनचर्या ने हमारे स्‍वास्‍थ्‍य और सुकून को बुरी तरह प्रभावित किया है। भागदौड़ बढ़ी है, खान-पान अनियमित व दूषित हुआ है। इसका सीधा असर स्‍वास्‍थ्‍य पर पड़ा है। कब्‍ज़ व बदहजमी की समस्‍या बढ़ी है। बहुत से लोगों...
आंतों के सिकुड़ने की होम्‍यौपैथ में बहुत ही कारगर दवा है। आंतें जब सिकुड़ने लगती हैं तो उल्‍टी शुरू हो जाती है। कुछ भी लेने पर आंतों में जाता नहीं है। ऐसी स्थिति में जीवन रक्षा के लिए रोगी...
हैजा रोग या कालरा में अचानक उल्‍टी व दस्‍त दोनों होने लगता है। तत्‍काल इलाज न होने पर शरीर धीरे-धीरे ठंडा पड़ने लगता है और मरीज़ पर मृत्‍यु का ख़तरा मंडराने लगता है। यह रोग गर्मियों में अधिक होता...
असंयमित व असुंलित खान-पान तथा अनियमित दिनचर्या के दौर में कब्ज़, गैस, अजीर्ण आदि की समस्‍या ने बड़ी तेज़ी से अपना पैर फैलाया है। कब्ज़ के चलते अनेक गंभीर समस्‍याओं से जूझना पड़ सकता है। जब शरीर में मल...
सात दिन के अंदर यदि बवासीर छू मंतर हो जाए तो क्या कहने। हाँ, यह सौ प्रतिशत सच है। हमारे गाँव में कोई ऐसा बवासीर का मरीज़ नहीं रहा जिसे दादी ने अपने नुस्खे से ठीक न कर दिया...
आंतों के छाले पड़ने से पेट में भयंकर दर्द होने लगता है। जलन, ऐंठन, उबकाई आदि की समस्‍याएं उत्‍पन्‍न हो जाती हैं। रोगी न तो कुछ खा पाता है और न ही सो पाता है। भूख लगती है लेकिन...

STAY CONNECTED

11,948FansLike
6,094FollowersFollow
311FollowersFollow

Latest Lifestyle Tips