गेंदा के फायदे और नुकसान

Genda ke fayde aur nuksan- बरसात के मौसम में उगने वाले सुगंधित गेंदा के फूल से आप सभी ज़रूर परिचित होंगे। यह फूल लाल तथा पीले रंग के होते हैं। इसके पत्ते हरे रंग के होते हैं। इसका स्वाद हल्का तीखा होता है। यह फूल हृदय और मन को प्रसन्न करने वाला और उत्तम स्वास्थ्य प्रदान करने वाला होता है। गेंदे को अंग्रेजी में Marigold कहते हैं। इसका साइंटिफिक नाम Tagetes है। गेंदे के फूल में विटामिन सी और एंटीऑक्‍सीडेंट भरपूर मात्रा में पाया जाता है इसलिए गेंदा के फूल से बने अर्क का सेवन हृदय रोग, कैंसर और स्‍ट्रोक को रोकने में मदद करता है। इसमें मौजूद कैरोटीनॉयड, ग्लाइकोसाइड और गंध तेल रूप रंग निखारने, झुर्रियां व मुहांसे हटाने व त्वचा में चमक लाने में मदद करते हैं …

गेंदा के फायदे और नुकसान

गेंदा की पत्तियों के फायदे

Gende ki pattiyon ke fayde

1. अर्थराइटिस का दर्द

गेंदा के फूल में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाया जाता है, जिस कारण से जब आप गेंदे के अर्क या गेंदे के तेल से जोड़ों की मालिश करते हैं तो इस मालिश से आपको जोड़ों के दर्द और अर्थराइटिस के दर्द से छुटकारा मिलता है।

2. बवासीर

बवासीर के रोगी अगर थोड़ी सी गेंदे की पत्तियों को पीसकर रस निकाल लें। फिर इस रस में एक चुटकी कालीमिर्च पाउडर और एक चुटकी नमक मिलाकर पी जाए तो इससे बवासीर रोगी को आराम मिलता है।

3. सिर के फोड़े-फुंसियां या घाव

सिर में फोड़े-फुंसिया या घाव हो जाने पर 1 चम्मच मैदे के साथ थोड़ी गेंदे की पत्तियां और फूलो को पीसकर इस पेस्ट को हफ्ते में 2 बार सिर पर लगाए। इससे सिर के फोड़े-फुंसियां या घाव ठीक हो जाते हैं।

4. फटी हुई एड़ियों को ठीक करने के लिए

थोड़े से गेंदे के पत्तों को मोम में गर्म कर लें। फिर इसे ठंडा करके फटी हुई एड़ियों पर लगाइए। इससे फटी हुई एड़ियों की दरारें भरने लगती है और एड़ियां चिकनी और सुंदर नज़र आती है।

5. दांत दर्द

थोड़ी सी गेंदे की पत्तियों को पानी में उबालकर रख लीजिए। दांत में दर्द होने पर इस उबले हुए पानी से कुल्ला करें। इससे दांत दर्द में आराम मिलता है।

गेंदा के फूल

गेंदा के फूल के फायदे

Gende ke phool ke fayde

1. दमा और खाँसी दूर करे

1 चम्मच सूखे हुए गेंदे के फूल में 1 चम्मच मिश्री मिलाकर सेवन करे। इससे दमा और खाँसी में आराम मिलता हैं।

2. योनि संक्रमण में लाभप्रद

योनि में संक्रमण होने पर थोड़े से गेंदे के फूल की पंखुड़ी को थोड़े से पानी में अच्‍छे से उबाल लीजिए। फिर इस पानी को ठंडा करके नहाने के पानी में मिलाकर नहाएं। इस तरह से कुछ दिनों तक नहाने से योनि का संक्रमण दूर होता है।

3. नपुंसकता

मर्दाना ताकत को बढ़ाने के लिए थोड़े से गेंदे के फूलों को सुखाकर इनके बीज निकाल लें। फिर इन बीज में थोड़ी सी मिश्री मिलाकर खाए। इससे नपुंसकता दूर होती है।

4. घाव ठीक करे

कही भी घाव हो जाए तो उस जगह गेंदे के फूल का रस लगाएं। क्योंकि गेंदा फूल में त्‍वचा के नए ऊतकों और नए रक्‍त वाहिकाओं के विकास को बढ़ावा देने की क्षमता मौजूद है। जिस कारण से यह घाव को जल्दी भर देता है।

5. आँखों के लिए

गेंदे की चाय में एंटीऑक्सीडेंट्स, लुटेइन, जेक्सनथिन, ल्य्कोपेन आदि तत्व पाए जाते हैं जो नेत्र रोग और अंधापन को रोकने में मदद करते हैं। गेंदा आँखों के लिए एंटीसेप्टिक का काम करता है। आंखों में लालपन आ जाए तो गेंदे के रस से आंख धोने पर बहुत फायदा मिलता है।

6. दाद

दाद होने पर गेंदे के फूलों के रस को दिन में 3 से 4 बार लगाए। इससे दाद कुछ ही दिनों में ठीक हो जाता है।

 Beauty tips in Hindi

सौन्दर्य निखारने के लिए गेंदा फूल के तेल का उपयोग

Gende ke phool ka tel beauty ke liye

1. दाग धब्बे दूर करे

गेंदा के फूल के तेल में एंटी फंगल का गुण मौजूद है। जो त्वचा में कोलेजन के स्तर को बढ़ाने तथा दाग धब्बों को दूर करने में मदद करता है।

2. रूप निखारने के लिए

यदि आप गेंदे के फूल के तेल से नियमित रूप से अपने चेहरे पर मालिश करे तो इससे त्वचा में रक्त का संचार बढ़ता है और आपका रंग रूप भी निखरने लगता है।

3. ऑयली त्‍वचा के लिए

गेंदे का फूल ऑयली त्‍वचा वालों के लिए बहुत फायदेमंद है। ऑयली त्वचा वाले लोग कुछ ताजा फूलों को गर्म पानी में उबाल लें। फिर इसे त्‍वचा पर लगाकर 15 मिनट के लिए छोड़ दें। इसके बाद इसे साफ पानी से धो लें। नियमित इस उपाय को अपनाने से ऑयली त्वचा वालों को बहुत लाभ मिलेगा।

4. झुर्रियां व मुहांसे दूर भगाए

झुर्रियों व मुहांसों से छुटकारा पाने के लिए गेंदा फूल के तेल से चेहरे की मसाज करें। इससे झुर्रियां व मुहांसे गायब हो जाएंगे और चेहरे पर चमक भी बनी रहेगी।

ध्यान रहे

गर्भवती महिलाएं व स्तनपान कराने वाली महिलाएं इसका सेवन न करे।