प्राकृतिक वस्तुओं को निर्धारित अनुपात मे मिलाकर बनने वाला लेप उबटन कहलाता है। घर पर आसानी से बन जाने वाला उबटन एक कामयाब ब्यूटी प्रोडक्ट है। यह घरेलू सौंदर्य प्रसाधन की श्रेणी में आता है। घरेलू उबटन जैसे सौंदर्य प्रसाधनों से न केवल सौंदर्य वृद्धि होती है, बल्कि आपकी त्वचा को भी कोई नुकसान नहीं होता है। इसके विपरीत केमिकल ब्यूटी प्रोडक्ट्स आपकी त्वचा को नुकसान पहुँचा सकते हैं। इसलिए आज हम आपको कुछ प्रचलित उबटन बनाने की विधि बताने जा हैं –

घरेलू उबटन बनाने की विधि

घरेलू उबटन बनाने की विधियाँ

1. चंदन का उबटन

सफेद चन्दन का चूरा – 4 ग्राम
कपूर – 100 मिलीग्राम
केसर – 20 ग्राम
हल्दी पाउडर – 200 ग्राम
गुलाब जल – आवश्यकतानुसार

– प्रयोग की विधि –

चंदन से घरेलू उबटन बनाने के लिए ऊपर लिस्ट में दी गयी सारी सामग्री को बारीक़ पीसकर पीसकर गुलाब जल के साथ लेप तैयार करें और रात में सोते समय तथा सुबह नियमित रूप से चेहरे गर्दन तथा हाथों पर लगाएँ और सूख जाने पर धो दें। चाहे तो यह उबटन पूरे शरीर मे भी लगा सकती हैं। इस उबटन के प्रयोग से शरीर की दुर्गन्ध दूर हो जाती है और त्वचा की सुंदरता बढ़ती है। चेहरे की झाइयाँ, मुँहासे आदि भी दूर हो जाते है और रंग भी निखर जाता है।

2. चंद्रप्रभा उबटन

पीली सरसों – 10 ग्राम
चिरौंजी – 10 ग्राम
मसूर की दाल – 10 ग्राम

– प्रयोग की विधि –

चंद्रप्रभा बहुत प्रचलित घरेलू उबटन है। इसके लिए उपरोक्त तीनों सामग्रियों को एक साथ मिलाकर बारीक़ पीस लें। आवश्कयतानुसार उबटन को गाय के दूध में घोलकर रात को सोने से पहले चेहरे पर लगायें। जब उबटन सूख जाये तो धो दें। इस उबटन के प्रयोग से कील मुँहासे और दाग़ धब्बे दूर हो जाते हैं। शरीर पर प्रतिदिन लगाने से शरीर की खाज़ खुजली, जलन, दुर्गन्ध और फुंसी की समस्या भी समाप्त हो जाती है।

अगर आपको लगता है कि ये उबटन आपको सूट करेगा या नहीं तो इन्हें लगाने से पहले अपने त्वचा पर थोड़ा सा लगाकर चेक कर लें। अगर आपकी त्वचा को ये उबटन सूट करे तो इनके इनके नियमित प्रयोग से आपको ज़रूर फ़ायदा होगा।

loading...