पपीता एक गुणकारी और मीठा फल है। कच्चा पपीता विटामिन ‘ए’ से भरपूर होता है। जो सब्ज़ी बनाने के लिए उपयोग किया जाता है। जबकि पका हुआ पपीता विटामिन ‘सी’ से भरपूर होता है। जिसे फल के रूप में खाया जाता है। इसके अलावा इसका उपयोग जूस, जेली, जैम बनाने के लिए भी किया जाता है। पपीता का उपयोग खाने के साथ साथ त्वचा की देखभाल के लिए भी किया जाता है। आयुर्वेद के अनुसार पपीते के सेवन से बालों का झड़ना, कब्ज़, पेट के कीड़े, वीर्यक्षय, स्कर्वी रोग, बवासीर, चर्मरोग, उच्च रक्तचाप, अनियमित मासिक धर्म आदि अनेक समस्याएं दूर हो जाती हैं।

पपीता खाने का सही समय

Right time to eat papaya

सुबह सुबह नाश्ते के समय में पपीता / Papaya का सेवन करना बहुत लाभकारी होता है। इसीलिए इसका सुबह सेवन ज़रूर करें।

पपीते के पोषक तत्व

Health nutrition elements of papaya

पपीते में पोटेशियम, कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, कैल्शियम, फास्फोरस, लौह तत्व, कैलोरी, फाइबर, विटामिन ए, विटामिन बी, विटामिन डी और विटामिन सी पाया जाता है।

पपीता के लाभ

पके पपीते से घरेलू इलाज

Ripe Papaya Home Remedies in Hindi

1. पाचन क्रिया

पपीता में पैपेन एंजाइम व बीटा कैरोटीन नामक तत्व पाए जाते हैं जो पाचन क्रिया को चुस्त व दुरुस्त बनाने में मदद करते हैं। इसीलिए जिनका पाचन तंत्र कमज़ोर हो उन्हें पपीते का सेवन ज़रूर करना चाहिए।

2. आँखों के लिए लाभकारी

पपीते का सेवन आँखों के लिए बहुत हितकारी होता है क्योंकि इसमें विटामिन ए प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। इसीलिए इसका सेवन ख़ूब करें।

3. कब्ज़

अधिकतर लोगों को कब्ज़ की शिक़ायत रहती है। ऐसे लोगों को नियमित रात के भोजन के बाद पपीते का सेवन करना चाहिए। इसके सेवन से कुछ ही दिनों में कब्ज़ की समस्या से छुटकारा मिल जाएगा।

4. वीर्य वर्द्धक

पपीता एक वीर्यवर्द्धक औषधि भी है। इसके सेवन से पुरुषों के शरीर में शुक्राणुओं की संख्या बढ़ती है इसीलिए इसका नियमित रूप से सेवन करें।

5. कैंसर

पपीता खाने से जानलेवा बीमारी कैंसर से भी बचा जा सकता है। क्योंकि पपीता में बीटा कैरोटीन नामक तत्व पाया जाता है। जो आपको कई जानलेवा बीमारियों से भी बचाता है।

6. मासिक धर्म की समस्या

महिलाओं में अनियमित मासिक धर्म का आना या अत्यंत दर्द के साथ मासिक धर्म का आना आदि अन्य समस्याओं के होने पर महिलाओं को 250 ग्राम पके हुए पपीते का रोज़ाना सेवन करना चाहिए। इससे मासिक धर्म से संबंधित सभी परेशानियां दूर हो जाती है।

7. पीलिया

पीलिया रोग में रोगी का शरीर बहुत कमज़ोर हो जाता है। इसीलिए पीलिया के रोगी को प्रतिदिन एक पका पपीता अवश्य खाना चाहिए। इससे पीलिया रोगी की स्थिति में तेज़ी से सुधार होता है।

8. बवासीर

अगर आप बवासीर से परेशान है। तो रोज़ाना एक पका हुआ पपीता खाएँ। इसके सेवन से कुछ दिनों में बवासीर रोग छू मन्तर हो जाएगा।

9. डेंगू

पपीते की पत्तियों के रस का सेवन डेंगू बुखार में अत्यंत लाभकारी है।

कच्चे पपीते से घरेलू इलाज

Raw papaya home remedies in Hindi

– जिन प्रसूता को दूध कम बनता हो, उन्हें प्रतिदिन कच्चे पपीते का सेवन सब्ज़ी के रूप में ज़रूर करना चाहिए।

– अक्सर नए जूते व चप्पल पहनने पर पैरों में छाले पड़ जाते हैं। यदि इन छालों पर कच्चे पपीते का रस लगाया जाए तो वे छाले जल्दी ही ठीक हो जाते हैं।

सौंदर्य निखार में पपीते का उपयोग

Papaya as a beauty product

– पके हुए पपीते का पल्प चेहरे पर रगड़ने से कील, मुंहासे, झुर्रियां दूर हो जाती है तथा चेहरे पर निखार आता है।

– पके हुए पपीते का पल्प या फेस पैक को चेहरे पर लगाएँ। यह बढ़ती हुई उम्र को कम करने में मदद करता है।

Keywords – Paka Papita, Kachcha Papita, Papita Ke Labh, Pake Papite Ke Fayde