तनाव मुक्त और खुशहाल जीवन बिताने के तरीके

आज के समय में कहीं विद्यार्थी अपने पढ़ाई को लेकर तनावपूर्ण हो जाते हैं, तो कहीं माता पिता अपने बच्चों के अच्छे भविष्य को लेकर चिंतित रहते हैं। तो कहीं किसी को घर की जिम्मेदारी निभाने की टेंशन होती है, तो कहीं किसी को ऑफिस के काम की टेंशन होती है। यानि बच्चे हो या बड़े सभी के पास टेंशन, तनाव और परेशानी है और अगर ये परेशानी जीवन में हद से ज़्यादा बढ़ जाए तो नकारात्मकता जीवन पर हावी होने लगती है। जो मानव को बुराई की ओर ढकेल देती है। ऐसे में खुद को इन परेशानियों से निकालने, तनाव मुक्त रहने और खुशहाल जीवन बिताने के लिए सकारात्मकता को अपनाएँ। इसके अलावा इन निम्न टिप्स को भी ज़रूर अपनाएँ क्योंकि इन्हें अपनाने से न केवल आप तनाव मुक्त रहेंगे बल्कि अपने जीवन को भी खुशहाल बना सकेंगे।

तनाव मुक्त और खुशहाल जीवन

तनाव मुक्त और खुशहाल जीवन का मंत्र

प्राकृतिक दृश्य

मन जब भी तनावपूर्ण हो जाए तब तुरन्त प्राकृतिक माहौल या किसी बगीचे में चले जाएँ क्योंकि प्राकृतिक वातावरण और वहां की शांति आपको बेहद सुकून का एहसास कराएगी और यह सुकून ही आपको तनाव से कोसो दूर ले जाती है और आप बहुत अच्छा महसूस करते हैं।

ध्यान

ध्यान एक अदभुत शक्ति है। जिसे कुछ मिनट नियमित करने से हमारे अंदर छिपे हुए क्रोध, भय, निराशा और मानसिक समस्याओं का दमन धीरे धीरे होता जाता है और आप अपने जीवन में नई खुशियों और नई उमंगों को महसूस करने लगते हैं।

व्यायाम

व्यायाम को नियमित करने से न केवल आप बीमारियों से बचते हैं। बल्कि मानसिक रूप से दिमागी तनाव और परेशानियों से भी बचे रहते हैं। व्यायाम और ध्यान करने से दिमाग में ताज़गी का एहसास बना रहता है। जो आपको सकारात्मक सोच प्रदान करता है और जब आपकी सोच सकारात्मक होने लगती है तो सारी परेशानियों का समाधान भी मिल जाता है और जीवन में चारों तरह खुशहाली का माहौल बन जाता है।

दोस्तों के साथ समय बिताएँ

जब तनाव और परेशानियां हद से ज़्यादा बढ़ जाएँ, तब कुछ पल के लिए ही सही अपने उन दोस्तों के साथ समय बिताएँ जिनके साथ आपको समय बिताना अच्छा लगता है। अपने दुःख सुख को बांटना अच्छा लगता है। क्योंकि ऐसा करने से कभी कभी न केवल उस परेशानी का समाधान मिल जाता है। बल्कि जीवन भी संगीत की तरह सुरीला बन जाता है।

नींद

जब कभी आपकी नींद आधी अधूरी रह जाती है तो पूरा दिन चिड़चिड़ापन, थकान का एहसास बना रहता है और कोई भी काम सही समय पर नहीं हो पाता। जिस कारण से पूरे दिन टेंशन बनी रहती है। इसीलिए अपनी नींद ज़रूर पूरी करें। फिर देखिए आप पूरे दिन कितने एक्टिव होकर कार्य करते हैं।

हंसना-मुस्कराना

बहुत ही आसानी के साथ तनावपूर्ण ज़िंदगी से बाहर निकलने का एक साधन हँसना-मुस्कराना है। क्योंकि हँसना एक कला और व्यायाम है और जिसे ये कला बख़ूबी आ जाए उस पर तनाव कभी हावी हो नहीं सकता और उसे खुशहाल जीवन का रास्ता मिल जाता है। क्योंकि हँसने से हमारे शरीर में रोगप्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है। जिससे हम कई बीमारियों से बचे रहते हैं। तो बिना किसी झिझक के हँसे, मुस्कराए और अपने जीवन को खुशहाल बनाएँ।

प्यार भरा स्पर्श

अक्सर आपने देखा होगा कि ऑफिस के कई टेंशन के बाद माता पिता जब भी घर आते हैं, तो अपने बच्चे की एक मुस्कराहट और उसके प्यार भरे स्पर्श से ही माता पिता की टेंशन और थकान छू मन्तर हो जाती है जैसे कभी कोई टेंशन नहीं थी। क्योंकि किसी अपने के प्यार भरे स्पर्श और उसके साथ के कारण आप अपनी परेशानी को भूल जाते हैं और उस पल जीवन को ख़ुशी के साथ जीने लगते हैं।

आशावादी

निराशा जब भी आप पर हावी होने लगे तब निराशा छोड़ सकरात्मक विचारों को अपनाना चाहिए। क्योंकि मुश्किल दौर में अगर आप सकारात्मक सोच को अपनाते हैं और आशावादी बनने का प्रयास करते हैं तो सफलता निश्चय ही आपके कदम चूमती है।

Previous articleकाले चने के औषधीय गुण
Next articleफ़्राई पत्तागोभी बनाने की विधि