बेहतर सेक्स लाइफ़ के लिए 8 योगासन

योग करने न केवल शारीरिक व मानसिक सेहत अच्छी रहती है, बल्कि आपको बेहतर सेक्स लाइफ़ भी मिलती है। योग में कई ऐसे आसन हैं जिससे रक्त संचार बढ़ता है और पेल्विक भाग की मसल्स मज़बूत बनती हैं। योग एक्सपर्ट बताते हैं, इन योगासनों को करके आप अपनी कल्पनाओं की उड़ान भर सकते हैं।

योग करके आप ख़ुद को लचीला और रिलैक्स कर सकते हैं, जिससे शरीर की कार्य प्रणाली सुधर जाती हैं। साथ योग करने का लाभ ये भी है कि इससे आपको सेक्सुअल ऊर्जा मिलती है और कमेच्छा की पूर्ति के लिए कई लेख भी हैं। पेल्विक लिफ़्ट और सूर्य नमस्कार जैसे योगासन सेक्सुअल लाइफ़ के लिए महत्वपूर्ण हैं।

बेहतर सेक्स लाइफ़ के योग का महत्त्व

1. भुजंगासन । Bhujangasana – Cobra Pose

भुजंगासन करने न केवल मेरूदंड मज़बूत होती है, बल्कि सेक्सुअल चक्र को जाग्रत भी करता है। इससे आप की सेक्सुअल क्षमता बढ़ जाती है।

भुजंगासन कोबरा पोज़िशन - बेहतर सेक्स लाइफ़

भुजंगासन के चरण –

 

  1. पैरों को सीधा, लम्बा फैलाकर रखिए।
  2. अपने हथेलियों को कंधों के नीचे भूमि पर रखें।
  3. माथे को भूमि से लगाकर रखें।
  4. अपने कोहनियों की दिशा ऊपर आकाश की ओर रखें।
  5. अब धीरे-धीरे सिर और कंधों को भूमि से ऊपर उठाइए। सिर को ऊपर उठाते समय सांस अंदर लेनी है।
  6. हाथों का अंदरूनी भाग शरीर से सटाकर रखें।
  7. हाथों पर अधिक दबाव न आने दें।
  8. अब धीरे-धीरे कोहनियों से सीधा करके पूरी पीठ को पीछे की ओर झुकाना है। नाभि को भूमि से लगाकर रखें। इस स्थिति में सांस सामान्य रखें। इस स्तिथि में 20 से 30 सेकण्ड तक रुकें और अभ्यास के साथ अंतराल बढ़ायें।
  9. इस अंतिम स्थिति में कुछ देर रुकने के बाद धीरे-धीरे नीचे आइए तथा पूर्व स्थिति में विश्राम करें। यह क्रिया सांस बाहर छोड़ते हुए करनी है।

 

2. मूल बंध प्राणायाम । Mula Bandha Pranayam – Kegal Exercise

मूल बंध से न केवल आपकी अंदरूनी मसल्स को क़सरत देता है, बल्कि सेक्सुअल हार्मोन को भी बैलेंस करता है। इस तरह आप बेहतर सेक्स लाइफ़ और चरमोत्कर्ष पर नियंत्रण कर पाने में सक्षम हो पाते हैं। एंडवास स्टेज पर यही एक्सरसाइज़ दूसरे योगासनों के साथ भी की जाती है।

मूलबंध प्राणायाम

मूल बंध के चरण –

  1. पैरों को अंदर मोड़कर और पीठ को सीधा करके बैठ जाइए।
  2. अपने घुटनों पर हाथ रखकर श्वास बाहर छोड़िए।
  3. अब साँस थाम लीजिए।
  4. कल्पना कीजिए ये आसन करते समय आपको मूत्र निर्गत करनी है।
  5. अपने जननांग और गुदा माँसपेशियों को सिकोड़िए और 5 से 10 सेकेंड के लिए थाम कर रखिए।
  6. साँस अंदर लेते हुए सिकोड़ी हुई माँसपेशियों को धीरे धीरे ढीला छोड़िए।
  7. इस प्रक्रिया को तीन बाहर दोहराइए।

आपको ध्यान रखना चाहिए, इस आसन को करने पर तत्काल परिणाम नहीं मिलते हैं। आपको इसे काफ़ी समय तक करना पड़ता है। इससे आपके शरीर को अनुशासन की आदत पड़ जाती है।

3. उष्ट्रासन । Ustrasana – Camel Pose

यह आसन आपके कूल्हों और मेरूदंड को खोलकर आपके शरीर को लचीला बनाता है, जिससे आपके धैर्य बढ़ता है। यह आपकी शारीरिक प्रणाली को तनाव मुक्त रखता है, जिससे आप हल्का और रिलैक्स्ड फ़ील करते हैं।

उष्ट्रासन कैमल पोज़िशन

उष्ट्रासन के चरण

  1. अपने घुटनों पर खड़े हो जाएँ।
  2. और कूल्हों को आगे ले जाते हुए धीरे धीरे करके हाथों से एड़ियों को पकड़िए।
  3. अपनी पीठ को धनुष के आकार में रखते हुए सिर को पीछे झुकाएँ।
  4. इस स्थिति में रहते हुए 10 से 30 सेकेंड तक सामान्य रूप से साँस लीजिए ।
  5. इस प्रक्रिया को दो से तीन बाहर दोहराइए।

4. मार्जरी आसन । Marjariasana – Cat Pose

एक लचीली मेरूदंड के आपको लम्बा और स्वस्थ जीवन का उपहार देती है। इससे मेरूदंड को शक्ति मिलती है और कमर के निचले भाग को आराम मिलता है। इस आसन में लय बद्धरूप से साँस लेकर आप अपने पार्टनर के साथ अच्छा तालमेल बिठा सकते हैं। इससे बेहतर सेक्स लाइफ़ की कामना सच हो जाती है।

मार्जरी आसन कैट पोज़िशन

मार्जरी आसन के चरण

  1. अपने हाथों को घुटनों को भूमि पर समांतर रखें।
  2. अब साँस को अंदर खींचते हुए पीठ को भूमि ओर मोड़कर धनुष आकार में करें।
  3. कुछ देर इस स्थिति में रहिए और धीरे धीरे साँस छोड़ते हुए पीठ को भूमि से ऊपर उठाइए। जैसे कि कभी आपने बिल्ली को करते हुए देखा हो।
  4. इस प्रक्रिया को 10 से 20 मिनट तक लय बद्ध रूप में दोहराइए।

5. बद्धकोण आसन । Badhkonasana – Butterfly Pose

यह आसन मुख्य रूप से आपके कूल्हे और अंदरूनी जाँघों को खोलता है, जिससे आपको दूसरे आसनों को करने की सहनशक्ति और लचीलापन मिलता है। इस आसन का अभ्यास आपको पुष्ट जंघाएँ और बेहतर सेक्स लाइफ़ दे सकता है।

बद्धकोणासान बटरफ़्लाई पोज़िशन

बद्धकोण आसन के चरण

  1. अपनी पीठ को सीधा करके पैठ जाइए और अपने पैरों के तलवों को मिलाइए।
  2. अपनी गदेलियों से घुटनों को धीरे से दबाते हुए कमर के भाग को स्ट्रेच कीजिए।
  3. और अपने घुटनों को भूमि से छुआने का प्रयास कीजिए।
  4. इस स्थिति में 20 – 30 सेकेंड रुक जाएँ।
  5. इस प्रक्रिया को तीन बार दोहराएम।

6. सेतु बंध आसन । Setu Bandhasana –

ये आसन आपकी पेल्विक मसल्स और मूल को शक्ति देता है। यह आपके जननांग में रक्त संचार बढ़ाता है, जिससे आपमें चरमोत्कर्ष की क्षमता बढ़ती है। बेहतर सेक्स लाइफ़ की इच्छा रखने वालों को इसका नियमित अभ्यास करना चाहिए।सेतु बंधासन

सेतु बंध आसन के चरण

  1. पीठ के बल लेटकर अपने घुटने ऊपर की ओर मोड़ लें।
  2. इसके बाद अपने पैरों को जितना हो सके, कूल्हों से सटाने की कोशिश करें।
  3. अपनी जाँघों और कूल्हों को सिकोड़ें।
  4. इसके बाद आपने धड़ को ऊपर उठाकर पैरों को नीचे दबायें।
  5. जितना हो सके आपको नाभि ऊपर उठा देनी चाहिए।
  6. इस स्थिति में 30 सेकेंड तक रूकें और 3 मिनट तक इसे करें।
  7. जब आप एक सेट पूरा कर लें, उसके बाद पीठ के निचले हिस्से को भूमि पर रख दें।
  8. आपकी पीठ अभी भी भूमि पर और घुटने मुड़े हुए हों।
  9. इस आसन को तीन बार दोहराएँ।

7. आंजनेय आसन । Anjaneyasana –

आपकी जाँघों को स्ट्रेच करने के साथ साथ, यह आसन आपकी पेल्विक फ़्लोर को शक्ति देता है। इस तरह आपके पेल्विस पर पड़ने वाला दबाव इस भाग में रक्त संचार बढ़ा देगा, जिससे इस भाग में नई कोशिकाएँ बनेंगी और आपको बेहतर सेक्स लाइफ़ और चरमोत्कर्ष का आनंद लेने का पूरा अवसर मिलेगा।

आंजनेय आसन

आंजनेय आसन के चरण

  1. खड़े होकर, अपना दायाँ पैर कुछ फ़ीट बाहर निकालें।
  2. अपने बायें पैर को सीधा रखकर दाहिने पैर का घुटना मोड़ें। आपका घुटना भूमि से 90 अंश के कोण पर होना चाहिए।
  3. अपने घुटनों को टखने के पीछे न फैलायें।
  4. अपनी बाँहें कूल्हों पर रखें, या सहारा लेने के लिए दाहिने पैर के किसी एक ओर रखें।
  5. अपने बाँयें पैर के अंदरूनी भाग पर स्ट्रेच फ़ील करें और दाहिने पैर पर बल लगायें।
  6. अब 10 गहरी साँसें लेकर इस स्थिति में कुछ देर रुकें।
  7. फिर वापस खड़े हो जाएँ और बाँया पैर बाहर निकालकर सारी प्रक्रिया दोहरायें।

8. मंडुकासन । Mandukasan – Frog Pose

इस आसन का अभ्यास करने के बाद आपको उन स्थितियों में खड़े होने या बैठने की सहनशक्ति मिलेगी, जिनमें पहले कठिनाई होती थी। इससे आपको कमर और जांघों में लचीलापन मिलता है, बेहतर सेक्स लाइफ़ के लिए अति आवश्यक है।

मंडुकासन फ़्रॉग पोज़िशन

मंडुकासन के चरण

  1. भूमि पर मेज की स्थिति में बैठ जाएँ।
  2. अपने टखनों को घुटनों के पीछे रखें और पैर पीछे मोड़ लें।
  3. अपनी गदेलियों को भूमि पर रखकर हाथों और कोहनी के बल स्वयं भूमि तक ले जाएँ।
  4. साँस छोड़कर कूल्हों को पीछे ले जाएँ, जिससे आप जाँघों और कूल्हों पर स्ट्रेच फ़ील कर सकें।
  5. अंदर की ओर साँस लें और 30 तक गिनें। अपने कूल्हों को आगे लाएँ, जैसे साँस लेते हुए रिलैक्स फ़ील करते हैं।
  6. वापस सामान्य स्थिति में आ जाएँ और प्रक्रिया को दोहरायें।

Keywords – Better sex life, Yoga and Sex life, Sexual wellness, Sexual health, Yoga exercise, Better life