ब्लैक टी से मोटापा कम करने के उपाय

ब्लैक टी के फ़ायदे: थकान और सुस्ती दूर करने के लिए चाय पीना आम बात है। हममें से कई लोगों की सुबह की शुरुआत ही चाय के साथ होती है। ज़्यादा चाय पीने की आदत हमारे पाचन तंत्र को ख़राब कर सकती है। दूध वाली चाय पीने के जगह अगर ग्रीन टी, लेमन टी और काली का प्रयोग करें तो पाचन तंत्र सुदृढ़ और शरीर चुस्त दुरुस्त रहता है। जिन्हें मोटापा कम करने का उपाय करना है, ये आलेख ख़ास उनके लिए तैयार किया गया है।

काली चाय के फ़ायदे
Black tea ke benefits

आप ज़रूर ग्रीन टी और लेमन टी के लाभों से परिचित होंगे। आपने शायद इनका सेवन भी किया हो। आज हम ब्लैक टी बनाने और उससे मोटापा कम करने के उपाय जानेंगे।

ब्लैक टी बनाने की विधि

बिना दूध की चाय को काली चाय कहते हैं। जो लोग ज़्यादा चाय पीते हैं उनको काली चाय पीनी चाहिए। आइए आज मोटापा कम करने में सहायक ब्लैक टी की रेसपी सीखते हैं –

आवश्यक सामग्री

1 कप पानी
1/2 चम्मच काली चाय पत्ती

बनाने की विधि

– चाय बनाने के बर्तन में एक कप पानी डालिए
– इसमें आधा चम्मच काली चाय पत्ती डालिए
– इस मिश्रण को उबाल कर छान लीजिए
– वज़न घटाने के लिए ब्लैक टी तैयार है

ब्लैक टी से मोटापा कम करने के उपाय

– काली चाय में दूध और चीनी न होने के कारण वज़न कम किया जा सकता है। साथ ही चाय के एंटीऑक्सीडेंट शरीर की अतिरिक्त चर्बी को बर्न कर देते हैं। यह स्वादिष्ट नहीं लेकिन इसे आदत में शुमार करें।
– चाय में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट मोटापा कम करने, फ़ैट बर्न करने और कोलेस्ट्राल कंट्रोल करने में बहुत लाभदायक होते हैं। चाय में दूध डालने से एंटीऑक्सीडेंट का असर कम हो जाता है।
– काली चाय पीने से 70% से अधिक कैलोरी बर्न होती है, जिससे वेट कम करने में आसानी होती है।
– ब्लैक टी पीने से पेट हल्का हो जाता है, चर्बी कम होती है और शरीर ऊर्जावान बनता है। जिससे आप मोटापा कम करने के लिए व्यायाम और योग करने में मदद मिलेगी।
– काली चाय पीने से भूख कम लगती है, जिससे अतिरिक्त चर्बी घटाने में मदद मिलती है।

काली चाय के फ़ायदे

ब्लैक टी से मोटापा घटाना
Black tea for weight control

– दिन में 3 बार ब्लैक टी पीने से बीपी कंट्रोल होता है।
– काली चाय में मौजूद फ़्लोराइड हड्डियों और मुँह के रोगों को दूर करने में लाभकारी है।
– प्रतिदिन 3 कप ब्लैक टी पीने से हृदय रोग और दिल का दौरा पड़ने का चांस 60% तक कम हो जाता है। साथ ही कोलेस्ट्रॉल कम करने में भी हेल्प मिलती है।
– काली चाय ख़ून को गाढ़ा नहीं होने देती है, जिससे नसों में ख़ून का थक्का नहीं जमता है।
– ब्लैक टी में नींबू का रस डालकर पीने से सिर दर्द ठीक हो जाता है।
– रोज़ काली के सेवन से डायबिटीज़ टाइप2 के ख़तरे को कम किया जा सकता है।
– कैंसर सेल्स की ग्रोथ को कम करने में भी काली चाय लाभकारी होती है।

अन्य स्वास्थ्य लाभ

– रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने, वासरस, पेट की अनेक बीमारियों और रोज़मर्रा के इंफ़ेक्शन से बचने के लिए काली चाय का सेवन कर सकते हैं।
– शरीर से टॉक्सिंस यानि फ्री रेडिकल्स निकालने के लिए ब्लैक टी पीनी चाहिए।
– त्वचा को स्वस्थ और उसकी नमी बनाए रखने के लिए विटामिन, मैग्नीशियम, ज़िंक और पोटेशियम की ज़रूरत होती है, ब्लैक टी में ये चारों तत्व होते हैं।
– दाग़-धब्बे, स्किन एलर्जी और अन्य संक्रमण से बचाने में काली चाय सक्षम है।
काली चाय पीने से पाचन तन्त्र स्वस्थ रहता है, जिससे पाचन क्रिया सुदृढ़ हो जाती है। अगर पाचन क्रिया ठीक रहे तो अनेक बीमारियाँ स्वत: ही ख़त्म हो जाती हैं। साथ ही साथ मानसिक तनाव भी कम करती है।
इसलिए मोटापा कम करने के साथ-साथ अनेक बीमारियों से बचने के लिए नियमित ब्लैक टी पी सकते हैं। शुरुआत में आपको इसका स्वाद अच्छा नहीं लगेगा, लेकिन लाभ मिलने से आपको इसकी आदत हो जाएगी।

Previous articleसब्जी मसाला बनाने की विधि
Next articleघर में मौजूद है मस्‍सों का दुश्‍मन