यदि आप किसी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो आप ज़रूर जानना चाहेंगे कि कैसे और किस तरीक़े से तैयारी करें, जिससे प्रतियोगी परीक्षा में सफलता मिल सके। क्योंकि आज के समय में प्रतियोगिता इतनी टफ़ है कि जब तक आप कड़ी मेहनत और तैयारी के लिए सही फ़ॉर्मेट तैयार नहीं करेंगे तब तक सफलता भी नहीं मिल सकती है। इसलिए प्रतियोगिता के लिए एक ऐसा फ़ॉर्मेट तैयार करें जिससे आप न केवल प्रतियोगी परीक्षा में सफल हो सके बल्कि कड़ी स्पर्धा के बावजूद अपने लिए अपनी योग्यतानुसार एक सुनहरा भविष्य संजो सकें। तो देर किस बात की है आइए जानते हैं कि किसी भी प्रतियोगी परीक्षा के लिए किन किन बातों का ध्यान रखना ज़रूरी है।

प्रतियोगी परीक्षा में सफलता पाने का तरीक़ा

प्रतियोगी परीक्षा में सफलता1. लक्ष्य निर्धारण

सबसे पहले आप उस दिशा या क्षेत्र या उस प्रतियोगिता का चुनें, जिसमें आपका रुझान हो। क्योंकि जिस विषय में आपका रुझान होगा, आप उसमें पूरी मेहनत भी करते हैं और सफलता भी आपको उसी क्षेत्र में मिलती है। जिस क्षेत्र में आपका रुझान नहीं है उस क्षेत्र को दूसरे से प्रेरित होकर न चुनें। क्योंकि जब दिशा सही होगी और लक्ष्य निर्धारित होगा तभी सफलता आपके क़दम को चूमेगी।

2. आत्मविश्वास, दृढ़ इच्छाशक्ति व धैर्य

किसी भी कार्य या प्रतियोगी परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के लिए आत्मविश्वास का होना बेहद ज़रूरी है, परंतु ओवर कॉन्फ़िडेन्स या अति आत्मविश्वास से बचें। समय समय पर अपना आंकलन करें, तो आपको सफल होने में कोई रोक नहीं सकता। आपका आत्मविश्वास ही आपके अंदर प्रबल इच्छा शक्ति उत्पन्न करता है, जो आपकी प्रतियोगिता में सफल होने में आपकी मदद करता है। लेकिन इसके साथ साथ यह भी ज़रूरी है कि आप धैर्य बनाये रहें और सही योजना बनाकर अपनी तैयारी करते रहें। यक़ीनन क़ामयाबी आपके क़दम चूमेगी।

3. परीक्षा के विषय में पूर्ण जानकारी

किसी भी परीक्षा में सफल होने के लिए ये बेहद ज़रूरी है कि आप को परीक्षा के विषय में पूरी जानकारी हो। जैसे – परीक्षा का समय, फ़ॉर्म भरने की तारीख़, वांछनीय योग्यता, न्यूनतम अंक, न्यूनतम या अधिकतम आयु सीमा आदि के विषय में पूर्ण जानकारी रखें।

4. टाइम मैनेजमेंट

किसी भी प्रतियोगी परीक्षा में सफलता के लिए टाइम मैनेजमेंट यानि समय प्रबंधन बेहद ज़रूरी होता है। इसके बिना तो कोई व्यक्ति आज तक सफल ही नहीं हुआ। टाइम मैनेजमेंट करते समय अपनी शारीरिक और मानसिक क्षमता का सही-सही आंकलन करके टाइम टेबल बनाना चाहिए।

5. बुनियादी या बेसिक जानकारी

किसी भी परीक्षा में सफल होने के लिए उस परीक्षा में आने वाले विषय की बेसिक जानकारी का होना बेहद ज़रूरी है क्योंकि जब तक नींव मजबूत नहीं होंगी, तब तक मजबूत इमारत नहीं खड़ी हो पाएगी इसलिए प्रत्येक विषय की बेसिक जानकारी स्पष्ट रखने का प्रयास करें।

6. सही मटेरियल सिलेक्शन

ये बेहद ज़रूरी है कि आप जिस भी परीक्षा में शामिल होने जा रहे हैं उस परीक्षा के लिए सही स्टडी मटेरियल चुनें तभी तो सफलता आपके क़दम को चूमेगी। इसके लिए आवश्यक है कि आप परीक्षा का पाठ्‌यक्रम सही से जान लें।

7. सामूहिक तैयारी

आप जिस भी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं ज़रूरी है कि उसको समूह में तैयार करें। क्योंकि जब समूह में कुछ बातें आप उन्हें बताते हो तो कुछ नया उनसे भी सीखने को मिलता है। यदि समूह में एक दूसरे से प्रश्न पूछे जाते हैं तो उसमे भी कुछ आप प्रश्न पूछेंगे जो उनके लिए नये हो सकते है और कुछ आपके लिए भी नये हो सकते हैं। जिससे आपकी तैयारी सुदृढ़ हो पाती है।

8. मॉक टेस्ट

ये एक तरह की बनावटी परीक्षा है, जिससे यह पता चलता है कि आपकी तैयारी कितनी अच्छी चल रही है या कितनी कमी रह गयी है या कितना सुधार करना अभी बाक़ी है। यह हमारी तैयारी का सबसे अहम हिस्सा है जो हमे परीक्षा से पूर्व ही बता देता है कि हम कितने सफल होंगे।

9. असफलता से सीख

अगर आप परीक्षा में असफल होते है तो इससे हतोत्साहित होने की ज़रूरत नहीं है बल्कि असफलता से सीखने की ज़रूरत है। बस ज़रूरी है कि आप सकारात्मक सोच रखें और हतोत्साहित हुए बिना अपने लक्ष्य की ओर बिना रुके आगे बढ़ते जाएँ। सफलता निश्चित रूप से आपके क़दमों में होगी।

अगर आप भी किसी प्रतियोगिता की तैयारी कर रहे है तो उपर्युक्त बताई गयी हर एक बात का अवश्य ध्यान रखें। तो फिर देखिएगा कि निश्चित रूप से सफलता आपके क़दम चूमेगी।

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा अपने विचारों और सुझावों से हमे ज़रूर अनुग्रहीत करें।

loading...