छोटे बच्चों की देखभाल करना और उनका उचित पालन पोषण करना आसान नहीं होता है। माँ के लिए हर दिन एक नए एहसास और नए चैलेंज लेकर आता है। एक माँ सुबह से लेकर शाम तक परिवार के साथ साथ अपने बच्चे की उचित देखभाल में व्यस्त रहती है। उनकी छोटी छोटी बातों का ध्यान भी रखती है। ताकि उनका बच्चा स्वस्थ रहें। लेकिन मौसम में आए बदलाव के कारण बच्चे को दस्त व पेट संक्रमण जैसी कई बीमारियां परेशान करने लगती है। जिससे बच्चा बेहद कमज़ोर होने लगता है। ऐसे में माँ घबराने लगती है। तो अब घबराइए मत क्योंकि इस समस्या से निजात पाने के लिए हम आपको कुछ घरेलू उपाय बताने जा रहे हैं।

साथ ही आप दस्त के समय बच्चे को भोजन देना जारी रखें, शिशु हो तो स्तनपान जारी रखें। बच्चे को नीबू का पानी, छांछ, नारियल का पानी, चावल का मांड और ओआरएस का घोल देते रहें। यह आपके बच्चे की सेहत को सुधारने में तथा दस्त रोकने में मदद करेगा।

बच्चे को दस्त आना

बच्चे को दस्त होने पर ज़रूरी उपाय

Diarrhea Prevention and Treatment in Hindi

1. उबला पानी

बच्चे को दस्त होने पर हमेशा बच्चे को पानी उबालकर ठंडा कर के पीने को दें। ताकि बच्चा पानी के इंफेक्शन से सुरक्षित रहें।

2. चीनी और नमक का घोल

अगर बच्चे को लगातार दस्त आ रहे हो तो पहले थोड़ा पानी उबालकर ठंडा कर लें। फिर इस एक गिलास पानी में थोड़ी चीनी और एक चुटकी नमक मिलाकर बच्‍चे को पिलाएं। इससे उसके शरीर में पानी की जो कमी हुई है वो भी कंट्रोल होगी और दस्त भी नियंत्रित होगा।

3. चावल का आटा

3 चम्मच चावल के आटे को पानी में मिलाकर कम से कम 10 मिनट पकाएं। इसमें हल्‍का नमक और बाद में कम से कम एक लीटर पानी मिलाकर पतला घोल बना लें। इस घोल को बच्‍चे को पिलाएं। इससे दस्त कंट्रोल होगा।

4. केला

दस्त में केले का सेवन बहुत फ़ायदेमंद साबित होता है। इसके लिए पके हुए केले को बच्चे को खाने को दीजिए। इसके सेवन से बच्चे का पाचन तंत्र सुचारू रूप से कार्य करने लगता है। जिससे बच्चे को दस्त व पेट दर्द दोनों से छुटकारा मिल जाएगा। क्योंकि केले में पेक्टिन व पोटैशियम होता है। जो आंतों के आस-पास एक सुरक्षात्मक परत का निर्माण करता है जो दस्त रोकने में मदद करता है।

5. दही

केले की तरफ दही का सेवन भी पेट दर्द व दस्त को नियंत्रित करने में सहायक है। दही में ऐसे कुछ बैक्टीरिया पाए जाते हैं। जो दस्त से छुटकारा दिलाने व आंतों को एक सुरक्षात्मक कवच प्रदान करने में मदद करता है। इसके अलावा दही का सेवन पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है। इसीलिए बच्चे को दस्त होने पर दही में थोड़ा काला नमक डालकर सेवन कराए, इससे बेहद आराम मिलेगा।

6. छाछ

छांछ में काला नमक और जीरा पाउडर मिलाकर पीने से भी पेट दर्द, पेट में ऐंठन व दस्त ठीक हो जाता है। इसीलिए बच्चे को डिहाइड्रेशन होने पर छांछ पिलाइए, इससे कुछ ही घण्टों में राहत मिलेगी।

7. साबूदाना

जब बच्चे का पाचन तंत्र बिगड़ जाए तब आप उसे एक दम पतला घोल वाला नमकीन साबूदाने का भी सेवन करा सकती है। इसके सेवन से बच्चे को बहुत राहत मिलेगी।

इसके अलावा नारियल पानी, सूप और जूस का भी सेवन कराए। जिससे दस्त में जल्दी ही आराम प्राप्त होगा।

loading...