कुछ दिन के लिए पीरियड टालने के तरीके

कभी कभार महिलाएं कुछ दिन के लिए पीरियड टालने के बारे में जानकारी चाहती हैं। ताकि उन्हें किसी शादी, मंदिर, पूजा पाठ या धार्मिक अनुष्ठान में जाना होता है। अंधविश्वास के चलते अक्सर मासिक धर्म के समाय महिलाएं ऐसे स्थानों में नहीं जाना चाहती हैं। लेकिन सच तो ये है कि पीरियड के समय अगर सफ़र करना पड़े तो परेशानी हो सकती है।

ऐसे मौके पर अगर पीरियड एक दो दिन टल जाए तो ही अच्छा रहता है।

पीरियड टालने के फ़ायदे

माहवारी को अगर टाल दिया जाए तो इसके कई लक्षणों से छुटकारा मिल जाता है। जैसे:

– सूजन
– सिर दर्द
– उल्टी आना
– चिड़चिड़ा स्वभाव
– माइग्रेन में सिर दर्द बढ़ना

पीरियड टालने वाली दवाएं
Postpone menstruation

पीरियड को कब रोका जाए

– प्रीमेंस्ट्रुअल डिस्फोरिक डिसॉर्डर (Premenstrual Dysphoric Disorders)
– एंड्रोमेट्रिओसिस विद सीवियर डिस्मैनोरिया (Endometriosis with Severe Dysmenorrhea)
– हार्मोन विदड्राल के लक्षण (Symptoms of Hormone Withdrawal)
– एटिपिकल यूटेरिन ब्लीडिंग (Atypical Uterine Bleeding)
– हेमोरैजिक डायाथेसिस (Haemorrhagic Diatheses)

पीरियड टालने से संबंधित किए गए शोधों से पता चला है कि इससे सिर दर्द, थकान, सूजन, चिड़चिड़ापन और दर्द जैसी कई परेशानियों से आराम मिलता है। माहवारी टालकर महिलाओं को कई दिक्कतों से बचाकर उनके जीवन के कुछ दिनों को सरल बनाया जा सकता है। मासिक धर्म टालने के लिए जिन दवाओं का इस्तेमाल किया जाता है, सभी औरतों को उनका शत प्रतिशत परिणाम नहीं मिलता है।

मासिक धर्म रोकने के तरीके

खाने की दवाएं

कम्बाइंड ओरल कॉन्टरासेप्टिव पिल खाकर पीरियड को टाला जा सकता है। अगर इन दवाओं का प्रयोग कर रही हैं तो आप इनका सेवन जारी रखें। दो पैक ख़त्म होने के बाद सात दिन का अंतराल रखना चाहिए।

ये दवाएं अलग-अलग प्रकार की होती हैं, और उनकी डोज़ भी अलग होती है।

मोनोफेसिक पिल – इस दवा को 21 दिन लगातार खाते हैं और फिर 7 दिन दवा नहीं खानी होती है। अगर पीरियड टालना है तो 7 दिन का गैप न लेकर नए पत्ते से गोलियां लेना शुरु कर दें।

एवरीडे पिल – इस दवा को 21 दिन लगातार खाने के बाद अगले 7 दिन तक इनएक्टिव पिल्स लेनी होती हैं। अगर आप ये दवा ले रही हैं तो मासिक धर्म को टालने के लिए इनएक्टिव पिल्स न खाएं। और नए पैक से एक्टिव पिल्स खानी शुरु कर दीजिए।

फेसिक पिल – यह इस तरह की दवा ही जो महिला को उसकी तत्काल स्थिति के अनुसार दी जाती है। इस दवा का सेवन डॉक्टरी सलाह से ही किया जाना चाहिए।

प्रोजेस्ट्रोन ओनली पिल – इस दवा के नियमित सेवन से पीरियड नहीं रुकता है। इसके लिए अन्य दवा भी साथ में खानी पड़ सकती है।

जिन महिलाओं को नहीं मालूम है कि किस दवा का सेवन करना है तो उन्हें डॉक्टरी सलाह के अनुसार दवा लेनी चाहिए। वरना साइड इफ़ेक्ट झेलने पड़ सकते हैं।

दवा के सेवन से पहले डॉक्टरी सलाह

अगर आप किसी तरह की दवा का सेवन शुरु करना चाह रही हैं तो डॉक्टरी सलाह से करें। हो सकता है कि डॉक्टर आपको हार्मोनल दवा की सलाह दें। ऐसी दवा में प्रोजेस्ट्रोन होता है जो गर्भाशय (यूटरस) को कंट्रोल करता है।

आपको ये बात अच्छे से समझ लेनी चाहिए कि ये दवाएं गर्भनिरोधक नहीं है। इसलिए पीरियड टालने वाली दवा लेना बंद कर देने के बाद दो-तीन में रुका हुआ पीरियड आ जाएगा।

साइड इफ़ेक्ट क्या हैं?

दवाओं का इस्तेमाल शुरु करने से पहले डॉक्टर से इसके फ़ायदे नुक़सान ज़रूर पूछें। इससे आपको संभावित परेशानियों से सतर्कता बरतने में आसानी होगी। इसके नुक़सान इस तरह हैं:

– दो पीरियड्स के बीच में ख़ून के धब्ब्दे यानि स्पॉटिंग या रक्तस्राव हो सकता है।
– पीरियड किस वजह से रुका है इसका पता करने के लिए प्रेग्नेंसी टेस्ट करना पड़ सकता है।

Keywords – Postpone Menstruation, Delay Period, Masik Dharm Talna, Mahwari Talna