मैं उसे प्यार करता हूँ पर वो समझती नहीं

लो दोस्तों! प्यार और रिश्ते के सवाल जवाब में एक और सवाल हाज़िर है। हमारे कोलकाता के एक दोस्त आज कल बहुत परेशान चल रहे हैं और उन्हें कुछ समझ नहीं आ रहा है कि उन्हें क्या करना चाहिए और क्या नहीं? इनकी प्रॉब्लम बड़ी ही मूवी टाइप है। वो किसी लड़की को दिल दे बैठे हैं और कहते हैं कि मैं उसे प्यार करता हूँ लेकिन जिसे वो अपनी पलकों पर बिठाना चाहते हैं वो कुछ और ही राग अलाप रही है। ऐसे में वो हमसे जानना चाहते हैं कि उन्हें क्या करना चाहिए? आइए हम अपने फ़्रेंड की प्रॉब्लम को समझें और उनको एक बेहतर सलाह दें।

मैं उसे प्यार करता हूँ पर वो…

मैं एक लड़की से एक साल से बात कर रहा था, उसके साथ ट्यूशन में भी पढ़ा था लेकिन उस टाइम उससे कोई ख़ास जान पहचान नहीं थी। फिर जब 12वीं के बाद ट्यूशन जाना बंद हो गया हो तो मैंने उस लड़की को फ़ेसबुक पर फ़्रेंड बनाया। फिर हम बहुत अच्छे दोस्त बन गये, और फ़ेसबुक, व्हाट्सएप और मोबाइल पर बात होती थी लेकिन बहुत कम होती है। देखते ही देखते एक साल हो गया और मेरे मन में उसके लिए फ़ीलिंग आनी शुरू हो गयी… आज मैं उसे प्यार करता हूँ , पूरे दिलो-जान से करता हूँ।

मैं उसे प्यार करता हूँ लेकिन...

एक दिन बात बात में उसने कह दिया कि – वो मुझे भाई जैसा मानती है। ये सुनकर मेरा दिल टूट गया, आगे क्या करूँ कुछ समझ में नहीं आया तो फिर एक हफ़्ते दोनों के बीच बात बंद रही। लेकिन मैंने अपने ग़ुस्से को कंट्रोल किया, अपने दिल को समझाया और उसके बारे में सोचकर उससे बात करनी फिर शुरू कर दी और आज भी हमारी बात होती है।

क़रीब 6 महीने हो गये जब उसने कहा थी कि वो मुझे भाई मानती है तो मैं बीच बीच में अपने ग़ुस्से के चलते बात बंद भी कर देता हूँ। कभी कभी महीने भर बात नहीं होती है। लेकिन फिर उसकी आवाज़ सुनने के लिए बात करना शुरू कर देता हूँ। मुझे उसकी बहुत फ़िक्र होती है, मैं उसकी बहुत केयर करता हूँ। उसके ज़्यादा फ़्रेंड नहीं है और वो बहुत अकेली अकेली रहती है। मेरे अलावा किसी से कुछ शेअर भी नहीं करती, न जाने किसलिए वो अपनी हर बात मुझे बता देती है, इसलिए मैं उसे प्यार करता हूँ , मेरी बिल्कुल भी समझ में नहीं आ रहा है कि मैं क्या करूँ? उसे भूल जाऊँ या क्या करूँ? उसे भूलने के लिए उससे बात करनी बंद करनी होगी, आखिर मैं क्या करूँ?

उससे अपने दिल की बात खुलकर कहो…

देखो फ़्रेंड आपकी प्यार की प्रॉब्लम हमें समझ आ गई है और अब हम जो आपको बताने जा रहे हैं वो आप ध्यान से पढ़ो और अपने दिमाग़ में बिठा लो। तुम उसे प्यार करते हो, ये बात तुम जानते हो लेकिन तुमने अपनी बात उसे अच्छे से नहीं बतायी है। जब वो तुमसे अपनी हर बात शेअर करती है तो तुम क्यों पीछे हो, तुम भी अपने दिल की बात उससे मिलकर आमने सामने कर लो। उसे ये पता ही होना चाहिए कि तुम्हारे मन में उसके लिए कैसी फ़ीलिंग्स हैं? ऐसा करके तुम्हें उसके दिल की सच्ची बात पता चल जाएगी।

नई गर्लफ़ेंड को प्यार का यक़ीन दिलाना

किसी से अपने दिल की बात शेअर करने का ये मतलब नहीं है कि वो आपके साथ रिलेशनशिप में आना चाहती है। हो सकता है कि वह सिर्फ़ आपसे बात करके अपना दिल हल्का करना चाहती हो या टाइम पास कर रही हो। आपको उसके दिल में जो है वह साफ़ साफ़ पता होनी ज़रूरी है।

अब जब तुम उससे बात करो तो उससे बोलना कि… मुझे तुमसे एक बहुत सीरियस बात करना चाहता हूँ। देखो मुझे नहीं पता कि तुम हमारे रिश्ते को कैसे देखती हो, दोस्त मानती हो या कुछ और… लेकिन मेरे दिल में कुछ है जो मैं बहुत टाइम से तुम्हें बताना चाहता हूँ और अब मुझसे रहा नहीं जा रहा है सो अब तुमसे ये बात कह देना चाहता हूँ। बात ये है कि… मैं तुम्हारी बहुत केयर करता हूँ, तुम्हें बहुत लाइक भी करता हूँ और मुझे तुमसे सच्चा वाला प्यार है। आज से नहीं पहले से, ये बात कहने के लिए हिम्मत नहीं हो रही थी लेकिन आज अपने दिल के जज़्बात कह रहा हूँ।

इतना उससे कह कर देखो, अपनी तरफ़ से इसमें दिल की फ़ीलिंग्स जोड़ लेना। फिर वो क्या रिस्पांस देती है, ये उस पर डिपेंड करता है कि तुम्हारे रिलेशनशिप का अंजाम क्या होगा? डरने की बात नहीं है, अगर उसके दिल में तुम्हारे लिए प्यार होगा तो वह ज़रूर हाँ कहेगी। इसके अलावा और कोई बात होगी तो वह खुलकर बता देगी।

उसके बात सब तुम पर है कि उसके फ़ैसले की इज़्ज़त करते हो या फिर फ़िल्मी मजनूँ बने रहते हो। उसके दर्द में ख़ुद को सज़ा देते हो और तड़पते रहते हो। ख़ैर बाद की बात बाद में करेंगे अभी जितना समझाया है उसे एप्लाई करो और मुझे उसका जवाब बताना ज़रूर।

दोस्तों ये तो थी मेरी सलाह अपने फ़्रेंड के लिए जो बेचारा प्यार के एक जाल में फंस गया है। अगर आपके पास भी उसके लिए कोई टिप्स हैं तो हमारे दोस्त की हेल्प कीजिए ताकि उसे उसका प्यार मिल जाए।