हाई स्कूल और इंटर के टाइम को बेस्ट बनाने के टिप्स

912

एक दिन पहले आप ग्रेड 9 में थे और अगले ही दिन आप ग्रैजुएशन पूरा कर लेते हैं, अरे आप तो चौंक गये कि मैं ऐसा क्यों कह रहा हूँ? सभी आपको बतायेंगे कि हाई स्कूल के दिन कितने जल्दी बीत गए, लेकिन आप इसे तभी समझ पाएंगे जब ये दिन बीत जाएंगे। इसलिए आपको ये 10 काम कर लेने चाहिए इससे पहले कि आपको कुछ पता ही न चले।

हाई स्कूल की यादें

हाई स्कूल में इन बातों का ध्यान रखें तो अच्छी यादें बनेंगी

1. एक टीम से जुड़ें

क्लास में बेंच पर बैठकर अकेले अपनी बोतल से पानी पीने से क्या मिलने वाला है। आपको एक टीम से जुड़ना चाहिए और दोस्ती करनी चाहिए। इससे आपको अपने बारे में और दूसरे के बारे में बहुत कुछ सीखने को मिलेगा। आपमें मुश्किलों से जूझने और एक जैसे उद्देश्य को पूरा करने की समझ आएगी। आगे जाकर आप कोई भी काम करें, आप एक टीम के सदस्य बनना तय है। इससे आपको लोगों को समझकर उन्हें डील करने में आसानी होगी। इस तरह आप अच्छी यादें भी बना पाएंगे।

2. किसी भी लड़के, लड़की या अन्य बात के लिए न लड़ें

टीनएजर्स अक्सर स्कूल में लड़ना पसंद करते हैं। आपको इस तरह का लड़का या लड़की बनने की ज़रूरत नहीं है। इससे आप कूल या पॉपुलर नहीं हो जाओगे। कुछ दिन ये बात चर्चा में रहेगी और फिर सब पहले की तरह हो जाएगा। आपके पैरेंट, टीचर्स और प्रिंसिपल इस बात को कभी नहीं भूल पाएंगे। अगर ये बात आपकी रिपोर्ट में शामिल हो जाएगी तो आपको अच्छे कॉलेज और यूनिवर्सिटी में एडमिशन लेने में भी प्रॉब्लम हो सकती है।

3. क्लासरूम के बाहर भी कोई स्किल सीखिए

जीवन हाई स्कूल से बड़ा है। आपको अपनी हॉबीज़ पता करनी चाहिए – जैसे योग करें, वर्क आउट करें, कोई आर्ट सीखें, कहानियाँ लिखें। इन दिनों आप स्वयं को निखार सकते हैं और भविष्य के किए पैर जमा सकते हैं। आपको पता करना चाहिए कि आप किस काम को अच्छे से कर पाते हैं और किस काम को नहीं। इन सबसे आपको सीखने को मिलेगा, भले ही आप सफल हों या फिर असफल। इस पलों को खुलकर जिएँ।

4. अपने टीचर्स से बात करें

आपका और टीचर्स का रिश्ता सिर्फ़ क्लासरूम तक नहीं होना चाहिए। आपको अपने टीचर्स के साथ एक हेल्दी रिलेशन बनाने की कोशिश करनी चाहिए ताकि वो आपके बारे में और ज़्यादा जान सकें और आपको सही दिशा में ले जा सकें। आपको याद दिला देता हूँ टीचर्स भी इंसान ही होते हैं इसलिए आप उनके साथ बैठें, बात करें, कॉफ़ी पिएँ और अपनी पसंद की कोई बात करें। इससे आपको टीचर्स आपके प्रति सपोर्टिव हो जाएंगे।

5. अपना रोमांस ढूँढ़ें

आपको लगता होगा कि ये मैं क्या कह रहा हूँ लेकिन आपको ऐसा करना चाहिए। हाई स्कूल वास्तविक जीवन का कंडेंस्ड रूप होता है, इसलिए आपको रोमांस का सिम्यूलेटर चलाना चाहिए। आपका दिल एक बार, दो बार या तीन बार टूटेगा लेकिन आपको ख़ुद के बारे में और दूसरों के बारे में सीखने को मिलेगा। अगर इस बीच आपको अपना प्यार मिल गया तो आप लाइफ़ के इस पड़ाव के बारे में एक बेहतर इंसान बन जाएंगे।

6. प्रॉम में जायें

बहुत से लोग प्रॉम में भाग नहीं लेते हैं, लेकिन कुछ लेते भी हैं। लेकिन आपको इसे करना चाहिए, ऐसा करने में सचमुच आपको और दूसरों को मज़ा आएगा। आप इस दिन ख़ुद को राजा या रानी जैसा फ़ील करेंगे, लेकिन आपको पीने की ज़रूरत नहीं है। प्रॉम वो जगह है जहाँ आप नाचते हैं, मौज करते हैं, खाते हैं, विनम्र रहते हैं और सम्मान प्राप्त करते हैं। ऐसे लोग अपनी छवि नहीं बना पाते जो इतना करने में शर्माते हैं या इन परिस्थितियों से भागते हैं।

7. पार्टी में जायें

जब आप एक टीनएजर के बारे में सोचते हो तो आपके दिमाग़ में पार्टी करने की बात आती है। ग्रेड 10 तक मैं आपको पार्टी करने की राय देता हूँ। लेकिन मेरी सलाह है कि आप पहले ही नाइट आउट में पीने के बारे न सोचें। पार्टी जल्द ही हेक्टिक हो सकती है, लेकिन यह अच्छा टाइम भी हो सकती है। पार्टी में आपको उन्हीं लोगों के साथ जाना चाहिए जिन्हें आप जानते हो। कभी भी अकेले मत जाइए और ऐसी गाइडलाइन बनाइए जिसे आप और आपके दोस्त भी फ़ॉलो करें। हमेशा मुश्किलों से दूर रहें और रात एक से पहले घर वापस आ जायें। मुझे बताने की ज़रूरत नहीं है कि इसके बाद क्या क्या हो सकता है?

हाई स्कूल में पढ़ाई

8. ग्रेड मैटर करते हैं, इसलिए पढ़ाई में ध्यान लगायें

बहुत से बच्चों के लिए होमवर्क का बोझ किसी आफ़त से कम नहीं होता है। ऐसा लगता है तो कोई बात नहीं लेकिन किसी क्लास में फ़ेल मत हो जाइए। अगर आपके मार्क 50% से कम आते हैं तो आपको पूरी लाइफ़ पछताना होगा। समय के साथ चलना ही सफलता है, इसलिए पढ़ाई में किसी भी प्रकार का आलस मत कीजिए। आपको जो होमवर्क मिलता है, उसे करते रहिए, सफलता आपकी राह देख रही है। लाइफ़ हमेशा वैसी नहीं होती है, जैसा हम उसे बनाना चाहते हैं। लाइफ़ मुश्किलों से भरी पड़ी है, लेकिन हाई स्कूल पास करना बहुत आसान है।

जब आपको लगे कि पढ़ाई बोझ बन गई है तो आप अपने टीचर्स से बात कीजिए और आपको अपनी समस्या का सही हल ज़रूर मिलेगा। इस अवसर को मत जाने दीजिए।

9. दूसरों की अधिक चिंता मत करें

दूसरे लोग आपके बारे में क्या सोचते हैं, इसकी व्यर्थ चिंता मत करें। हो सकता है कोई आपकी किसी बात पर हँस दे और आप पर भद्दा कमेंट कर दे, लेकिन आपको उन्हें जीतने नहीं देना चाहिए। हाई स्कूल एक छोटा बॉक्स है। आपको सभी के मन का करने की कोई ज़रूरत नहीं है, लेकिन दोस्तों के साथ रहिए। दूसरे आपमें जो कमी देखते हैं अगर आप उसको पूरा भी कर लें तो वो कोई दूसरी कमी ढूँढ़ ही लेंगे। आपको ख़ुद अपने आपको देखना है और आगे बढ़ना है।

10. छोटी छोटी बातों में ख़ुशी ढूँढ़ें

जब कोई फ़्रेंड स्कूल प्राइड एसेम्बली में आपके लिए कॉफ़ी लाए तो उसकी रिस्पेक्ट कीजिए। उसके साथ हँसिए, मुस्कुराइए और टाइम बिताइए। कोई अगर आपको अकेला बैठा दिखाई तो उसको हेलो बोलने और उसके चेहरे पर ख़ुशी लाने की कोशिश कीजिए। जो आपके कमरे की सफ़ाई करे या स्कूल मेस में खाना परोसे उससे मुस्कुराकर बात कीजिए।

अपने हाई स्कूल टाइम में ख़ुद को हँसमुख बनाइए और अपने आस पास के वातावरण को पॉज़िटिव रखिए। ऐसा करके आपको स्कूल छोड़ने के बाद आपको ये कहने का मौक़ा नहीं मिलेगा कि स्कूल टाइम नरक जैसा था। आप स्कूल छोड़ने के बाद अपने साथ अच्छी यादें लेकर जायेंगी।

loading...