मातृ दिवस

मातृ दिवस का इतिहास और मनाने के आइडिया

इस मातृ दिवस को आप अपनी माँ के लिए क्या ख़ास कर रहे हैं? आपको कोई आइडिया नहीं सूझ रहा है? सोचिए सोचिए इसे अपनी माँ के बहुत बनाइए क्योंकि दुनिया में माँ का स्थान सबसे ऊंचा है और सबसे श्रेष्ठ भी है, क्योंकि वो माँ ही है जो रात रात जगकर अपने बच्चों की भूख और प्यास का ध्यान रखती है। अपने बच्चे की उंगली थामकर उसे चलना सिखाती है। पहली शिक्षिका बनकर बच्चे का सही मार्गदर्शन करती है। समय समय पर जब बच्चा कभी हतोत्साहित हो तो उसका मार्गदर्शक बनकर उसे प्रोत्साहित भी माँ करती है। जो सब कुछ भूलकर अपने बच्चे की ज़िंदगी सवांरने में अपनी ज़िंदगी लगा देती है। वो सिर्फ़ माँ हो सकती है। माँ की महानता, त्याग और बिलदान को चन्द शब्दों में कह पाना बहुत मुश्किल है।

मातृ दिवस

मातृ दिवस

8 मार्च को राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर इस दिन को मातृ दिवस के रूप में मनाया जाता है। इसे मई महीने के दूसरे रविवार को भी मनाया जाता है।

मातृ दिवस को मनाने के पीछे का इतिहास

इतिहासकार मातृ दिवस को मनाने से जुड़ी कई रोचक कहानियों को मानते हैं।

मातृ दिवस ग्राफ़टन वेस्ट वर्जिनिया में एना जॉर्विस द्वारा सभी माँओं के अनमोल मातृत्व और उनके पारिवारिक संबंधों को सम्मान देने के लिए आरंभ किया गया। जिसे आज पूरी दुनिया में मदर्स डे के रूप में मनाया जाता है। इस दिन कई देशों में विशेष अवकाश की भी परम्परा है।

लेकिन कुछ जानकारों का मानना है कि माँ का सम्मान और उनकी पूजा का आरम्भ पुराने ग्रीस से हुआ है। ग्रीक देवताओं की माँ स्य्बेले के सम्मान में यह दिन मातृदिवस के रूप में मनाया जाता था।

अमेरिका में सर्वप्रथम मदर्स डे प्रोक्लॉमेशन जुलिया वॉर्ड होवे द्वारा 1870 में मनाया गया था।

चीन में मातृ दिवस बेहद लोकप्रिय है और इस दिन माँ को उपहार के रूप में गुलनार के फूल दिए जाते हैं। 1997 में चीन में यह दिन गरीब माँओं की मदद के लिए निश्चित किया गया था।

मातृ दिवस माँ बेटी

मदर्स डे को कैसे सेलीब्रेट करें

अगर आप अपनी माँ के लिए मातृदिवस को ख़ास बनाना चाहते है तो इन तरीकों को अपनाएं –

1. ख़ास गिफ़्ट

आप अपनी माँ के लिए कुछ ख़ास गिफ़्ट जैसे ग्रीटिंग कार्ड, फ़्लावर, चॉकलेट आदि आप गिफ़्ट में देकर इस दिन को स्पेशल ढंग से मनाएं और अपनी माँ के लिए इस दिन को बहुत यादगार बना दें।

2. माँ की पसंदीदा रेसिपी बनाएं

माँ को ख़ुश करने का व इस दिन को स्पेशल बनाने का एक तरीका यह है कि आप उनके लिए एक ख़ास रेसपी बनाएं। यक़ीनन यह तरीका मातृ दिवस को ख़ास बनाने का बहुत ही अच्छा तरीक़ा है।

3. बाहर घूमने का प्लान बनाएं

अपनी माँ के लिए इस दिन को ख़ास बनाने के लिए आप उन्हें कहीं बाहर घूमाने लें जाएं और उनके साथ समय बिताएं। उनके इस दिन को बहुत यादगार बनाने का प्रयास करें।

सच तो ये है कि जब माँ हम बच्चों की ज़िंदगी सवांरने के लिए अपनी पूरी ज़िंदगी लगा देती है। तो उनके त्याग, प्यार और बलिदान के लिए सिर्फ़ ये एक दिन क्यों प्रत्येक दिन मातृ दिवस के रूप में मनाया जाना चाहिए और सदैव उनका सम्मान करना चाहिए।

अगर आप भी अपनी माँ से जुड़ी कुछ ख़ास यादों को हमसे शेयर करना चाहते है तो प्लीज़ उन्हें कमेंट बॉक्स में ज़रूर लिखें।

हमारी पूरी टीम की तरफ से मातृ दिवस की आप सबको हार्दिक बधाई।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top