नियमित रूप से स्वस्थ और जवान दिखने के लिए योग करें। नियमित योग का अभ्यास करने से शरीर के सभी अंग सुचारू रूप से कार्य करते हैं और आप भी पूरे दिन एनर्जेटिक रहते हैं। योग व आसन करने से आप न केवल शारीरिक रूप से बल्कि मानसिक रूप से भी स्वस्थ रहते हैं। इसीलिए आज हम आपको नौकासन योग करने की विधि और उसके फ़ायदों के बारे में बताने जा रहे हैं।

नौकासन योग

नौकासन योग

इस आसन को करते समय शरीर नाव के आकार के समान होता है। इसीलिए इसे नौकासन कहा जाता है। यह आसन पाचन तंत्र के लिए बहुत ही फायदेमंद है। इस मुद्रा को करते समय शरीर के सभी अंगों का व्यायाम होता है।

नौकासन योग विधि

– सबसे पहले ज़मीन पर दरी या चटाई बिछा लें।
– फिर पीठ के बल लेट जाइए।
– अब अपनी एड़ी और पंजों को आपस में मिला लें।
– दोनों पैरों, गर्दन और हाथों को धीरे धीरे करके ऊपर उठाइए।
– अब इस मुद्रा में कुछ सेंकड के लिए रुकें।
– फिर धीरे धीरे करके अपने हाथों, गर्दन और पैरों को नीचे लाते हुए पहले वाली स्थिति में आ जाइए।
– इस अभ्यास को लगभग पांच बार करें।
– इस आसन को बहुत ही आराम से करना चाहिए।

Also Read – Yoga to Improve Eyesight in Hindi

नौकासन योग के लाभ

– नौकासन करने से हमारा शरीर सुडौल बनता है और इससे हमारी हड्डियां मजबूत होती है।
– जिन लोगों को नींद नहीं आती है वे लोग रोजाना इसका अभ्यास करें। इसके नियमित अभ्यास से नींद अच्छी आने लगती है।
– नौकासन करते समय आपके कमर, हिप्स, पैर, पेट और मेरूदंड इन सभी अंगो का इस्तेमाल होता है जिससे शरीर के अंगों में संतुलन बना रहता है।
– नौकासन करने से कमर और जांघ का एक्स्ट्रा फैट कम होता है। यह आपके मोटापे को भी घटाने में सहायक है।
– इस आसन को करने से हमारे पाचन तन्त्र में सुधार होता है। जिससे आप पेट से संबंधी समस्याओं से बचे रहते हैं।

सावधानी

– हृदय रोगी को यह आसन नहीं करना चाहिए।
– पीठ दर्द, कमर दर्द आदि से परेशान लोगों को यह आसन नहीं करना चाहिए।
– गर्भवती महिलाओं को यह आसन नहीं करना चाहिए।
– पेट के आॅपरेशन वाले लोगों को यह आसन नहीं करना चाहिए।

loading...