टमाटर डोसा

स्वप्नदोष रोकने के उपाय और योगासन

स्वप्नदोष का इलाज: स्वप्नदोष एक प्रकार का मानसिक विकार है। रात को सोते समय अपने आप वीर्य स्खलित हो जाना स्वप्नदोष कहलाता है। किशोरों में स्वप्नदोष होना एक आम बात है। महीने में दो बार नाइटफाल होना कोई परेशानी की बात नहीं है। लेकिन अगर बार बार ऐसा होने लगे तो आपको स्वप्नदोष रोकने के उपाय करने चाहिए। बार बार वीर्य स्खलित होने से शरीर पर विपरीत असर पड़ता है। साथ मानसिक दबाव भी बढ़ जाता है।
वैसे तो शादी के बाद यह समस्या स्वयं समाप्त हो जाती है, लेकिन अगर ऐसा न हो तो यह एक बीमारी है और इसका इलाज किसी विशेषज्ञ डॉक्टर से करवाना चाहिए। इस आर्टिकल में आप स्वप्नदोष का आयुर्वेदिक इलाज सीखेंगे।

स्वप्नदोष रोकने के उपाय
Nightfall problem solution in Hindi

स्वप्नदोष के नुकसान

– शरीर धीरे-धीरे कमज़ोर पड़ जाता है।
– किसी काम को करने में मन नहीं लगता है।
– शरीर की स्फूर्ति घट जाती है और व्यक्ति आलसी हो जाता है।
– ज़्यादा नाइटफाल होने सए संभोग के समय लिंग जल्दी ढीला हो जाता है।

स्वप्नदोष के कारण

– विपरीत लिंग से अधिक आकर्षण
– संभोग करने के सपने देखना
– रात में खाना देर से खाना
– पेट के बल उल्टे सोना
– पेट में गर्मी होना
सेक्स सम्बंधित सपने देखने से लिंग उत्तेजित हो जाता है और हल्का सा घर्षण मिलते ही वीर्य स्खलन हो जाता है।

स्वप्नदोष की अंग्रेजी दवा के बिना इलाज

बिना किसी दवा के स्वप्नदोष रोकने के उपाय करना चाहते हैं तो पहले संभोग के बारे में सोचना बंद करें और दूसरा पेट साफ़ रखें। ये दोनों उपाय करने से नाइटफाल हमेशा के लिए बंद हो जाता है।
– दिमाग साफ रखने के लिए अच्छे और सुविचार में बिजी रहें ताकि यौन सम्बंधों को लेकर कोई विचार न आएं।
– कब्ज़ होने पर भी स्वप्नदोष होता है, इसलिए पेट साफ रखना ज़रूरी है। कब्ज़ पेट में गर्मी बढ़ा देता है, जिससे वीर्य स्खलित हो जाता है।

स्वप्नदोष रोकने के उपाय

– नाइटफाल से बचने के लिए शरीर को ठंडा रखने वाली वस्तुएं खानी चाहिए।
– रात को हल्के और ढीले कपड़े पहनकर सोएं।
– लिंग के आस पास के बाल नियमित रूप से हटाते रहें।
– रात को सोते समय दूध न पिएं। इससे पेट में गर्मी बढ़ती है और वीर्य स्खलित हो सकता है।
– सोने से पहले अपने पैर घुटने तक ठंडे पानी से धोएं।
– सप्ताह में एक बार हस्तमैथुन करना गलत नहीं है।
– रात का खाना सोने से 2-3 से घंटे पहले करें। डिनर ज़्यादा भारी न करें।
– हमेशा पीठ के बल सोएं।
– स्वप्नदोष रोकने के लिए तन और मन दोनों साफ रखें।
– नहाते समय लिंग की चमड़ी को पीछे करके उसे ठीक प्रकार से साफ करें।
– सोने पहले महान लोगों की किताबें पढ़ें ताकि सुविचार जन्म लें।
– नियमित रूप से सुबह योग और प्राणायाम करें।
– कब्ज़ न होने दें।
– ठंडे पानी से नहाएं।
– रात को भोजन करने के बाद पेशाब ज़रूर जाएं।

नाइटफाल प्रॉब्लम
Nightfall Problem Yoga Treatment

स्वप्नदोष का घरेलू इलाज

– रोज़ लहसुन की दो छिली कलियां पानी के साथ निगल लें।
– हर दिन 2 केले खाकर गुनगुना दूध पिएं।
– सूखा धनिया और मिसरी मिलाकर पीस लें और पाउडर बना लें। रोज़ आधा चम्मच पाउडर सादे पानी के साथ लें। इस उपाय से स्वप्नदोष से जल्दी छुटकारा मिल जाता है।
– अनार के छिलकों को पीस कर चूरन बना लें। सुबह सुबह 5-5 ग्राम चूरन पानी के साथ लेने से फायदा मिलेगा।
– सफेद प्याज़ 10 ग्राम, अदरक का रस 5 ग्राम, देसी घी 3 ग्राम और शहद 3 ग्राम मिलाकर रात को सोने से पहले खाएं। नाइटफाल प्रॉब्लम के सोल्यूशन के लिए ये घरेलू उपाय बहुत फायदेमंद है।

स्वप्नदोष का आयुर्वेदिक इलाज

– आंवले का मुरब्बा रोज़ खाने से स्वप्नदोष की बीमारी ठीक हो जाती है।
– कुछ नीम के पत्ते, 3 कालीमिर्च, और 4 टुकड़े गिलोय मिलाकर बारीक पीसकर पाउडर बनाएं। इस पाउडर को सुबह खाली पेट पानी के साथ नियमित रूप से खाने पर नाइटफाल की प्रॉब्लम से छुटकारा मिल जाएगा।
– पालक के पत्तों का सूती कपड़े से छना हुआ रस खाली पेट पीने से 1 हफ़्ते में स्वप्नदोन रुक जाता है।

स्वप्नदोष का इलाज और योग

शारीरिक, मानसिक और अध्यात्मिक रूप से स्वस्थ और निरोगी रहने के लिए योग-प्राणायम करना सबसे उत्तम है। योग अनेकोनेक बीमारियों का इलाज करने के साथ-साथ स्वप्नदोष का उपचार कर सकता है। आइए जानें कि बाबा रामदेव द्वारा बताए गए कौन से योगासन स्वप्नदोष रोकने के उपाय हो सकते हैं?

1. विज्रोली क्रियाविधि

पेशाब करते समय कुछ सेकेंड के लिए पेशाब रोकें और फिर करें। पेशाब करते समय इस क्रिया को 2-3 बार करने से लिंग की नसें मजबूत होती है और स्वप्नदोष खत्म हो जाता है।

2. अश्विनी मुद्रा

दोनों घुटनों पर शौच करने की स्थिति में बैठ जाएं और अपने गुदा द्वार को अंदर खींचकर कुछ सेकेंड बाद छोड़ दें। इस क्रिया को 30 से 40 बार करें और इस आसन को दिन में 2-3 बार करें। स्वप्नदोष के उपाय के साथ-साथ इस आसन से नपुंसकता का इलाज भी होता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top