पोर्न देखने के फ़ायदे और नुक़सान

सेक्स लव कपल्स के बीच में प्राकृतिक बात है, जिसके बिना दोनों के बीच गहरे सम्बंधों की फ़ीलिंग अधूरी है। लेकिन जब सेक्स लाइफ़ ठंडी पड़ जाए, बिस्तर पर सिलवटें न पड़ें और सब कुछ अकल्पनीय हो जाए। जब प्यार में रोमांच ख़त्म होने लगता है तो लव कपल्स वैवाहिक सम्बंधों में मसाला मारने के लिए सेक्शूअली इक्सप्लिसिट वीडियो या पोर्न देखने लगते हैं।

मानव इतिहास के साथ-साथ ही पोर्नोग्राफ़ी चल रही है, बहुत से कपल्स इसे तरह तरह से एंज्वाय करते हैं। वे बॉलीवुड और हॉलीवुड के सॉफ़्ट पोर्न सीन से लेकर ट्रिपल एक्स तक का सहारा लेते हैं। आँखें फाड़ फाड़कर कपल्स को इरोटिक सेक्स करते देखना मनोरंजन का साधन है।

पोर्न देखने के फ़ायदे

पोर्नोग्राफ़ी उन विवाहित लव कपल्स के बीच पोटेंशियल कैटालिस्ट होता है जो उन्हें वात्सायन कामसूत्र में लिखे सेक्स पोज़िशंस को समझने में मदद करता है। ये दोनों के बीच प्यार बढ़ाने और एक दूसरे को रोमांचित करने में बहुत हेल्पफ़ुल होती है।

इन वीडियो को देखना कोई पाप नहीं है, क्योंकि इसे देखकर ही लव कपल्स बोल्ड सेक्शूअल मूव करने की चेष्टा कर पाते हैं। सेक्सपर्ट की माने तो इससे कामेच्छाओं को पुनर्जीवित करने में सहायता मिलती है।

समस्या तब खड़ी हो जाती है जब लव कपल्स एक साथ पोर्न देखने की हिम्मत नहीं जुटा पाते हैं। इससे दोनों में से एक जिसे ज़्यादा प्रॉब्लम होती है वो दूसरे को इच्छाओं को पूरा न कर पाने में असहज और असमर्थ महसूस करने लगता है या उस पर शक करने लगता है। वह जानना चाहता है कि विवाहित जीवन में पोर्न देखना कितना नैतिक है? टाइम्स ऑफ़ इंडिया के एक सर्वे के अनुसार 53% जोड़े पोर्न का आनंद लेते हैं जबकि 43% इसे अनैतिक काम समझते हैं। इस सर्वे से हम भारत में लोगों का माइंडसेट आसानी से समझ सकते हैं। सेक्स लव कपल्स के लिए बेस्ट थेरेपी है और पोर्न उसमें नयी ऊर्जा भर देती है। एक बार सेक्स करना 20 किलोमीटर पैदल टहलने जैसा है।

इसलिए क्यों न अपने पार्टनर के साथ पोर्न देखकर सेक्शूअल कल्पनाओं को पूरा करें। बजाय कि आप रिश्ते में धोखा करें और किसी और के बारे में सोचते रहें। मनोवैज्ञानिक डॉक्टर समीर पारीख के अनुसार पोर्न देखने से आपको फ़ायदा मिलेगा या नहीं, यह व्यक्तिगत सोच पर निर्भर करता है। जब दोनों को इसमें मज़ा आए तो ज़िंदगी ख़ुशहाल बन जाती है, लेकिन अगर न आए तो रिश्तों में कड़वाहट आ सकती है। साथ ही आप स्वस्थ सेक्शूअल जीवन बिता सकते हैं और आपसी प्रेम का आनंद उठा सकते हैं। यह जीवन में शार्ट टर्म फ़ायदे दे सकती है लेकिन ज़्यादा लम्बे समय तक नहीं।

पोर्न देखने के नुक़सान

दिमाग़ सटक जाए तो पोर्न देखने की आदत किसी को भी शैतान बना सकती है जिससे रिश्ते बिखर सकते हैं। कुछ लोग मानते हैं कि यह बेडरूम में ज़िंदगी को मसालेदार बनाने की बजाय अपनी भड़ास निकालने का ज़रिया भर है। इसलिए जब आपके दिमाग़ में यह नॉटी आइडिया आए तो इन अच्छी बुरी बातों पर ही ध्यान दीजिएगा।

पोर्न देखने के नुक़सान

  • पोर्न देखने की अपराध भावना और अविश्वास रिश्तों को तोड़ सकती है
  • हो सकता है कि यह आपके पार्टनर को सच्चे प्यार की भावना ख़त्म कर दे, क्योंकि इससे क्षणिक सुख प्राप्त होता है
  • ये भी संभव है कि पार्टनर आपका सम्मान न करे। दोनों में कोई भी असुरक्षित फ़ील कर सकता है।
  • सेक्स में प्यार का एहसास ख़त्म हो सकता है, जिससे शादीशुदा जीवन में सेक्शूअल संतोष घट सकता है।