प्यार कहने को महज़ एक शब्द है, पर इस प्यार में बड़ी गहराई होती हैं। रिश्ता प्यार और विश्वास की नाज़ुक डोर से बंधे होते हैं यदि ये विश्वास की डोर थोड़ी से भी ढीली पड़ जाए, तो रिश्ता डगमगाने लगते हैं और टूटकर बिखर जाते हैं। जिसके असर जल्द ही नज़र आने लगते हैं। अतः आप अपने रिश्ते में कोई भी ऐसा काम न करें जिससे आपके प्यार और विश्वास की डोर कमज़ोए पड़ने लगे और फिर उसे आप संभाल भी न पाए।

रिश्ते में प्यार और विश्वास की डोर

प्यार और विश्वास की डोर को मज़बूत करने के उपाय

Building Trust in Love Relationships – Hindi Article

आप अपने इस नाज़ुक और मज़बूत रिश्ते को किन किन ग़लतियों से हमेशा बचाकर रखें, आज हम आपको यही बतायेंगे –

1. फ़ोन चेक करना

आपके साथी थोड़ी देर के लिए फ़ोन छोड़कर क्या गए आप तो चोरी छुपे उनका फ़ोन ही चेक करने लगींं। इसका मतलब है कि आप अपने साथी पर विश्वास नहीं करतींं। अगर आप बार बार अपने साथी पर बिना किसी वजह के शक करती हैं तो यह तय है कि आपके रिश्ते के बीच दरारें पड़ सकती हैं। इसलिए ज़रूरी है कि बिना किसी वजह के शक करने से बचें।

2. संकीर्ण सोच परेशान करती है

अगर आपका साथी किसी दूसरी महिला से बात कर ले या फिर उसकी तारीफ़ कर दे तो आप ग़ुस्से में लाल होने लगती हैं। साथी से ढेर सारे शक भरे सवाल भी बिना सोचे समझे करने लगती हैं। अगर यह स्थिति बहुत लंबे समय तक बनी हुई है तो आपको अपने स्वभाव के बारे में सोचने की ज़रूरत है। कोई भी रिश्ता लंबे समय तक तभी चल सकता है जब आप उसके प्यार और विश्वास की डोर से बुनते हैं, और जब उसमें शक का कोई भी स्थान नहीं होता।

3. नकारात्मक सोच को कहें गुडबाय

आप हमेशा अपने साथी को लेकर नकारात्मक या ग़लत ही सोचने लगती हैं जब कभी साथी फ़ोन न उठा पाये तो यह सोच लेना कि वो किसी और के साथ होंगे। जबकि यह हो सकता है कि वो किसी ज़रूरी काम में व्यस्त हों। अगर इस तरह के ख़याल आते हैं तो आप इन नकारात्मक सोच को अपने रिश्ते के बीच न आने दें, क्योंकि ये रिश्ते प्यार की बेहद नाज़ुक डोर से बंधे होते हैं जिनमें शक का कोई भी स्थान नहीं होता।

4. बार-बार प्यार का इम्तिहान न लें

समय समय पर अपने साथी का इम्तेहान लेना अच्छी बात नहीं है। यह आप दोनों के बीच ग़लतफ़हमी पैदा कर सकता है। जिससे आपका रिश्ता कमज़ोर होकर टूट भी सकता है अतः ऐसी स्थिति को अपने रिश्ते में न आने दें।

रिश्ते में प्यार और विश्वास की डोर

5. हर वक़्त साथी को धोखेबाज़ कहना

जब रिश्तों में दरारें पड़ती हैं तो बात बात पर अपने साथी को धोखेबाज़ कहना सही नहीं है। अगर आप अपने इस प्यारे रिश्ते को बचाना चाहती हैं, तो सबसे पहले अपने साथी से उस मुद्दे पर खुलकर बात करें जिस बात के कारण आपके रिश्ते के बीच दरारें पड़ीं, क्योंकि बातें कहने से ही उनका समाधान हो सकता है। अगर आप लोग बात करेंगे नहीं सिर्फ़ एक दूसरे को दोष देंगे तो रिश्ते सुधरेंगे नहीं बल्कि और बिगड़ते जायेंगे।

इसलिए ज़रूरी है कि पुनः अपने इस रिश्ते में आपसी समझ लाएँ ताकि आप का रिश्ता प्यार और विश्वास की डोरी से बंधकर सालो-साल फलता फूलता रहे और आपके इस रिश्ते को किसी की नज़र न लगे।

उम्मीद है कि जिस रिश्ते को आपने प्यार और विश्वास की डोर से बांधा है उस रिश्ते में कभी किसी और (शक) को आने नहीं देंगी। ताकि आपका रिश्ता यूँ ही चलता रहे और इसे किसी की नज़र न लगे।

Keywords – Love relationship, Love tips, Law of relationship, Understand life partner, Healthy relationship, Beautiful relationship

loading...