शादी के बाद चक्कर के 5 कारण

अक्सर कहा जाता है कि अगर इस लड़के या लड़की की शादी कर दो तो रोज़-रोज़ के अफ़ेयर्स से छुट्टी मिल जाएगी। लेकिन क्या सच में शादी के बाद किसी का अफ़ेयर नहीं होगा, क्या इसकी सौ प्रतिशत गारंटी है? अगर आपका उत्तर हाँ है तो यह आपकी बड़ी भूल साबित हो सकता है। आपने भी अख़बारों में शादीशुदा जीवन में धोखा देने की कई ख़बरें ज़रूर पढ़ी होंगी।

मनोवैज्ञानिक परीक्षणों में देखा गया है कि अगर मानसिक और शारीरिक रूप से असंतुष्ट शादीशुदा औरत और मर्द ही अन्य विकल्प की तलाश करते हैं और शादी के बाद अफ़ेयर करते हैं।

बड़े शहरों से लेकर ग्रामीण इलाक़ों तक शादी के बाद चक्कर चलाना आम बात हो गयी है। अख़बारों में रोज़ इससे सम्बंधित ख़बरें छपती हैं जो हमें सचेत और सावधान करती हैं।

शादीशुदा जीवन में धोखा

शादीशुदा जीवन में धोखा क्यों आम बात हो गई है –

बहुत कम ऐसे लाइफ़पार्टनर्स होते हैं जो जानबूझ कर धोखा देते हैं लेकिन सभी परिस्थितियों में धोखा देने के लिए कई कारण जिम्मेवार होते हैं। आइए शादीशुदा जीवन में धोखा देने या खाने के कारणों के पीछे का सच जानने की कोशिश करते हैं जिसके बाद हम अपनी शादीशुदा लाइफ़ को और बेहतर बना सकें –

1. पार्टनर के साथ सेक्स सम्बंधों में असंतुष्ट होना

शादी के बाद सेक्स लाइफ़ का पूरा आनंद उठाना चाहिए। लेकिन जब दम्पत्ति किन्हीं कारणों से संभोग का पूरा सुख नहीं प्राप्त करते हैं, तो किसी अन्य से इसकी पूर्ति करने की सम्भावना बढ़ जाती है। इसके लिए अपने पार्टनर को संतुष्ट करना और उससे पूरा सहयोग प्राप्त करना अति आवश्यक है। अन्यथा कहीं और से इसकी प्रतिपूर्ति स्वाभाविक है।

2. दम्पत्ति की आपसी अनबन

शादी का शुरुआती समय बहुतों के लिए यादगार होता है लेकिन जैसे जैसे साल बिताते हैं तो लाइफ़पार्टनर्स की आपसी अनबन बड़े-बड़े झगड़ों में बदल जाती है। कभी कभी हिंसा का भी रूप ले लेती है। जिससे वे साथ रहते हुए भी कभी एक नहीं होते हैं जिससे शादीशुदा जीवन में धोखा अपनी जगह बना लेता है। लेकिन शरीर को खाने की तरह सेक्स सुख की भी आवश्यकता होती है और व्यक्ति किसी ऐसे की तलाश करने लगता है जो उसे मानसिक सुख के साथ शारीरिक सुख भी दे सके।

3. पसंद का लाइफ़ पार्टनर न मिलना

बहुत बार ऐसा देखा गया है कि परिवारिक दबाव के चलते लड़का या लड़की शादी कर लेते हैं। लेकिन अपने जीवनसाथी के साथ दिल से नहीं जुड़ पाते हैं और समझौते की राह पर चल प‌ड़ते हैं। ऐसी परिस्थिति में अपने पहले प्यार की ओर आकर्षित रहते हैं या फिर प्यार की तलाश करते रहते हैं। जिससे वे शादीशुदा जीवन में धोखा के दो राहे पर चल पड़ते हैं।

4. सेक्स में सरप्राइज़ का ख़त्म होना

शादीशुदा सेक्स लाइफ़ में यदि पति-पत्नी के बीच कोई सरप्राइज़ एलिमेंट न हो तो किसी पार्टनर के मन में एक बोरियत सी हो जाती है जो एक विकार का रूप ले लेती है। जिस कारण से वह सेक्स में नयेपन की तलाश के लिए शादीशुदा जीवन में धोखा देने की राह पर आगे बढ़ जाता है।

5. जीवनसाथी के साथ समय न बिताना

आज की तेज़ दौड़ती ज़िंदगी में जीवनसाथी एक दूसरे को पूरा समय नहीं दे पाते हैं। जिससे दोनों को अकेलापन सताने लगता है और वे अपने ही आस-पास किसी से या फिर जिससे आसानी से सेक्स सुख मिल जाए उससे सम्बंध बना लेते हैं।

वर्किंग ऑवर ज़्यादा होने के कारण थकान रहती है और पार्टनर ऑफ़िस से आने के बाद अपने पार्टनर के साथ ज़्यादा समय नहीं बिता पाता है या सेक्स में स्वयं को असंतुष्ट महसूस करता है जिससे भी असंतुष्ट पार्टनर के मन में धोखा देने की प्रवृति का जन्म होता है।

उपरोक्त बिंदुओं को पढ़कर आपको अपनी शादीशुदा जीवन को बेहतर बनाने के लिए सही क़दम उठाना चाहिए। जिससे न आप धोखा खाएँ और न ही अपने पार्टनर को जाने-अंजाने धोखा दें। हो सके तो हर पहलू पर ठीक से विचार करके आप अपने जीवन साथी को क्वालिटी समय दें और उसकी इच्छाओं का पूरा ध्यान रखें।

loading...