आंवला की मीठी चटनी

आज हम आपको हेल्दी और पौष्टिक आंवला की मीठी चटनी बनाने की विधि बताने जा रहे हैं। आंवला विटामिन सी से भरपूर होता है। इसकी सबसे बड़ी ख़ूबी यह है कि इसको पकाने के बाद भी इसमें विटामिन सी ख़तम नहीं होते। इसके अलावा आंवला स्वास्थ्य के लिए भी बहुत लाभकारी है। आइए ऐसे गुणकारी आंवले की मीठी चटनी बनाना सीखें…

[recipe title=”आंवला की मीठी चटनी” servings=”300gm” time=”25min” difficulty=”Medium” image=”https://lifestyletips.in/wp-content/uploads/2017/03/sweet-amla-chutney-1.jpg” description=”आंवले के सेहत भरे गुणों से आप परिचित हैं ही। आप इसके इन्हीं गुणों का लाभ चटनी बनाकर भी उठा सकते हैं। हम आपको आंवले की मीठी चटनी बनाने की विधि बता रहे हैं।” print=”false”]

आंवले की मीठी चटनी रेसिपी

Amla Ki Meethi Chutney Recipe

[recipe-ingredients title=”आवश्यक सामग्री”]
– 150 ग्राम आवंला
– 150 ग्राम गुड़ / चीनी
– ½ छोटा चम्मच इलायची पाउडर
– ¼ छोटा चम्मच लाल मिर्च पाउडर
– ¼ छोटा चम्मच गरम मसाला
– 1 चुटकी जीरा पाउडर
– स्वादानुसार नमक
– स्वादानुसार काला नमक
[/recipe-ingredients]

[recipe-directions title=”आंवले की मीठी चटनी बनाने का तरीका”]
1. सबसे पहले एक बर्तन में आंवला और आधा गिलास पानी डालें।

2. गैसचूल्हा जलाकर इस बर्तन को चढ़ा दें।

3. लगभग 10 से 15 मिनट में आंवला पककर थोड़े नरम हो जायेंगें।

4. हाथ से छूकर देख लें अगर आंवला पककर थोड़े नरम हो गए हो तो इन्हें एक प्लेट में निकाल कर ठंडा कर लीजिए।

5. उबले आंवले के बीज को निकालकर मिक्सर जार में डालकर पेस्ट बना लीजिए।

6. गैसचूल्हे पर एक पैन को चढ़ाकर इसमें आंवले का पेस्ट, गुड़, नमक, काला नमक, इलायची पाउडर, लाल मिर्च पाउडर, जीरा पाउडर और गरम मसाला डाल कर चम्मच से मिलाएँ।

7. इसे चम्मच से बीच बीच में चलाते हुए धीमी आंच पर गाढ़ा होने तक पका लीजिए।

8. जब यह अच्छे से पक जाएं तब गैस बंद कर दें। आंवले की मीठी चटनी तैयार है।
[/recipe-directions]

[recipe-notes title=”परोसने का तरीका”]
– आप इसे आलू फ़्राई, परांठे, पूरी या ब्रेड पर जैम की तरह लगा कर सर्व कर सकते हैं।
[/recipe-notes]

[recipe-notes title=”ध्यान रखने योग्य बातें”]
– आंवला की मीठी चटनी को आप फ्रिज में रख कर 1 महीने तक खा सकते हैं।

– चटनी को बीच बीच में चलाते रहें ताकि चटनी बर्तन की तली में लगे नहीं।

– ध्यान रहें चटनी न बहुत अधिक पतली हो और न बहुत अधिक गाढ़ी।

– चटनी बनाते समय आप अपने स्वाद के अनुसार गुड़ / चीनी मात्रा को घटा बढ़ा सकते हैं।
[/recipe-notes]
[/recipe]