लड़की से चैट करने का तरीक़ा

हैलो फ़्रेंड्स मेरा नाम मोहित है और मैं फ़र्स्ट ईयर में पढ़ता हूँ, आज मैं ऐसे एक टॉपिक के बारे में बात कर रहा हूँ जिससे आपको बहुत हेल्प मिलने वाली है। वो टॉपिक है – “लड़की से चैट करने का तरीक़ा”। चैट ही एक ऐसा साधन है जिससे बड़ी आसानी से गर्लफ़्रेंड बनाई जा सकती है, चाहे वो आमने सामने बात करके पटे या फिर मोबाइल चैट से, दोनों एक जैसे ही हैं। जिन लड़कों को लड़की से चैट करने के तरीक़ा पता है और लड़की किस किस तरह के मैसेज से इंप्रेस होती है। उन लड़कों की तो लाट्री लगी होती है। कहते हैं जैसी दोस्ती की संगत वैसी ही रंगत।

लड़की से चैट

लड़की से चैट करना आना चाहिए

१०वीं के बाद से ही मेरे कुछ ऐसे दोस्त थे, जिनको चैट करने की समझ अच्छी खासी थी। बस उन्हीं के बीच में रह रह कर मुझे भी काफ़ी चीज़ें पता चल गयीं। आज मैं आपके सामने अपनी आशिक़ी के बारे में बताना चाहता हूँ। ये मैं इसलिए कर रहा हूँ क्योंकि मेरा तो भला मेरे दोस्तों ने कर ही दिया है और मैं आप लोगों का भला कर दूँ। शायद आप लोगों की  एक दो गर्लफ़्रेंड ही बन जाएँ। चलो फिर सीधे टॉपिक पर बात करते हैं। मैं पढ़ने में बहुत तेज़ हुआ करता था और ज़्यादातर लड़कियों को छोड़कर किताबों पे ध्यान दिया करता था। १०वीं पास करने के बाद मैंने डी० ए० वी० में एसमिशन ले लिया। वहाँ जाकर तो मैं महीने में एक नम्बर का टपोरी बन गया। एक महीने पहले क्या था और एक महीने बाद क्या बन गया? ये तो मैं भी नहीं समझ पाया बस ये तो दोस्ती की संगत थी। मेरे दोस्तों मे लगभग सभी के पास गर्लफ़्रेंड थी सिवा मेरे… क्योंकि मैं ज़्यादा बोलता नहीं था और न ही इन कामों मे एक्सपर्ट था। अक्सर मेरे दोस्त मुझे ये कहा करते थे कि रोहित कब तक ऐसे ही सिंगल रहेगा। अब नहीं गर्लफ़्रेंड रखेगा तो कब रखेगा। मुझे भी लगा कि… हाँ दोस्तों की बातों में कहीं ना कहीं सच्चाई तो है। बस फिर क्या था मैंने दोस्तों को कहा कि मेरी भी गर्लफ़्रेंड बनवा दो। तो उन्होने अगले दिन ही अपनी गर्लफ़्रेंड की फ़्रेंड से मेरा परिचय करा दिया।

उसने मुझे देखते ही हाँ कर दिया। फिर क्या था स्कूल में तो बात कर लिया करते थे जैसे तैसे क्योंकि दोस्तों के साथ होता था। तो बीच बीच में हँसी मज़ाक चलता रहता था। मैं तो गधे जैसा था। कभी कभार मुझे लगता था कि ये फ़्रेंडशिप ज़्यादा दिनों तक नहीं चलेगी। पर शुक्रिया मेरे दोस्तों का कि उन्हें लड़की से चैट करने का तरीक़ा पता थे। बस फिर क्या था दोस्तों ने मुझे एक दो दिन में तैयार कर दिया। पता तो मुझे पूरा लग गया था, पर मन में कॉन्फ़ीडेंस नहीं था। क्योंकि पहली बार इन तरीक़ों को आज़मा रहा था। क्या पता ये तरीक़े चले भी की नहीं?

१०वीं तक तो मैं एक सीधा साधा शरीफ़ लड़का था क्योंकि मेरे दोस्त भी मेरे जैसे थे। तीन चार दिन बाद मैंनें साफ़ साफ़ कन्वर्सेसन में लिखना शुरू कर दिया जिससे उसको मेरी बात साफ़ साफ़ समझ आ जाती थी। आज कल के टाईम में कोई भी लम्बा चौड़ा नहीं लिखता शॉर्टकट में लिखते हैं। जिससे बहुत लोगों को समझ में नहीं आता है पर ये स्किल बहुत ज़रूरी  है। फिर मैंनें उसकी फ़ैमिली के बारे में पूछना शुरू कर दिया जिससे लड़कियों को लगता है कि कोई अपना चैट कर रहा हो। फ़ैमिली में सबके बारे में पूछ लेना चाहिए। इससे रिश्ता थोड़ा मज़बूत बन जाता है। ये वाला तरीक़ा तो फ़ेल ही नहीं हो सकता। मैंनें तो उसका दिल इसी में ही जीत लिया था। लड़की से चैट करते करते बीच में एक आधे जोक मार दिया करता था।

जिससे उसको बीच बीच में हँसने क मौक़ा मिल जाता था‌। दोस्तों चैट करते वक़्त अपनी गर्लफ़्रेंड को थोड़ा हँसा दिया करो। क्योंकि कभी कभार चैट करते वक़्त पता नहीं कब वो बोर हो जाए। इसलिए जोक्स मारने से चैट लम्बी हो जाती है और लड़की का इंट्रेस्ट भी बना रहता है।

सबसे इम्पार्टेंट और पावरफ़ुल तरीक़ा “हमेशा लड़की के मैसेज का रिप्लाई फ़ौरन कर दिया करो”। क्योंकि लड़कियों को इंतज़ार करना पसंद नहीं है। मैं तो उसी वक़्त रिप्लाई कर देता हूँ जैसे ही उनका मैसेज मिलता है। इससे दोनों में अंडरस्टैन्डिंग बनी रहती है और फ़ालतू की लड़ाई भी नहीं होती है।

आप” एक क्यूट सा वर्ड है जिसे सुनकर कोई भी ख़ुश हो जाता है। अगर आप किसी को रिस्पेक्ट देते हो तो आप उसकी नज़रों मे सबसे ऊपर होते हो। जब मैंनें चैट करना शुरू किया तो उसको मैं हमेशा आप कहके बोलता था। और चैट में ये बहुत ज़रूरी होता है। मैं तो यही कहूँगा कि रिश्ते को अगर आप लम्बा चलना चाहते हो तो ये तरीक़ा ज़रूर अपनायें। इस बात का भी ख़याल रखो कि उसे क्या पसंद है और क्या नहीं, अगर आपको उसकी हर एक चीज़ के बारे में पता है तो रिश्ता टूटने का सवाल ही नहीं पैदा होता है।

दोस्तों आज मैंने आपको लड़की से चैट करने के तरीक़ों के बारे बहुत कुछ बता दिया। तो मैं उम्मीद करता हूँ कि ये टॉपिक “लड़की से चैट करने के टिप्स” आपके बहुत काम आयेगा। अगर आप इन तरीक़ों आज़माते हैं तो हमें ज़रूर कमेंट कीजिए और प्रॉब्लम के बारे में बताइए। हम अगली स्टोरी में उन प्रॉब्लम्स का हल ज़रूर निकालेंगे। अगली बार एक और स्टोरी के साथ। हमारी स्टोरी को लाइक कीजिए और जितना हो सके उतना शेअर कीजिए, पता नहीं कब किसका भला हो जाये… और एक ज़रूरी बात… लड़की को सबसे ज़्यादाअच्छा तब लगता है जब आप उसकी पसंद टॉपिक पर बात करते हो। हैव अ नाइस डे!