फिट और स्वास्थ्य रहने के लिए एक्‍सरसाइज बहुत ज़रूरी है लेकिन अचानक एक्सरसाइज करने से शरीर पर जो खिंचाव पड़ता है उससे चोट या मोच लगने की संभावना बढ़ जाती है। इसीलिए किसी भी एक्सरसाइज या वर्कआउट को करने से पहले वार्मअप ज़रूर करें। वार्मअप करने से शरीर लचीला बन जाता है, साथ ही इससे मांसपेशियों में रक्त संचार बढ़ जाता है और इससे चोट या मोंच लगने की आशंका भी कम हो जाती है। लेकिन इसे सही तरीके से करना ज़रूरी होता है। तो चलिए आज हम आपको बताते हैं कि किसी भी एक्सरसाइज या वर्कऑउट को करने से पहले कौन कौन से वार्मअप कर सकते हैं और इन्हें करने का सही तरीका क्या है…

वार्मअप टिप्स

वार्मअप करने के टिप्स

दौड़

किसी भी एक्सरसाइज को करने से पहले वार्मअप के लिए दौड़ लगाएँ क्‍योंकि इससे शरीर का तापमान बढ़ता है, शरीर में गर्माहट आती है और जब आप एक्सरसाइज करते है तो मासपेशियों में किसी भी तरह की चोट या लोच से बचे रहते हैं।

स्ट्रेचिंग

स्ट्रेचिंग यानि मासपेशियों में खिंचाव। किसी भी एक्सरसाइज को करने से पहले वार्मअप के लिए आप जौगिंग के साथ साथ स्ट्रेचिंग भी कर सकते हैं। इससे शरीर में लचीलापन आता है। जिससे आपका शरीर किसी भी तरह की एक्सरसाइज के लिए फ्लेक्सिबल हो जाता है और आप किसी भी तरह की चोट या मोच से बचे रहते हैं।

रस्सी कूद

शरीर को गर्माहट प्रदान करने के लिए रस्सी कूद भी एक बेहतरीन वार्मअप है। शुरुआत में आप धीरे धीरे रस्सी कूदना शुरू करें। फिर आप थोड़ा तेज़ी के साथ इसे करें।

साइकिलिंग

साइकिलिंग करना भी एक अच्छा वार्मअप है। इसके लिए आप सुबह सुबह कुछ देर बाहर जाकर साइकिल चला सकते हैं या फिर साईकिल मशीन पर भी साइकिलिंग कर सकते हैं और उसके बाद किसी भी एक्सरसाइज को करें।

वाकिंग लन्ज

सीधे खड़े होकर पैरों को एक साथ मिलाएँ, फिर अपना सीधा पैर आगे बढ़ाएँ और अपना उल्टा हाथ आगे लाएँ। धीरे धीरे हिप्स नीचे ले जाते हुए दोनों घुटनों को मोड़ लें। अब आपके आगे का घुटना आपके टखने पर होना चाहिए और पीछे का घुटना ज़मीन से ऊपर होना चाहिए। अब अपने उल्टे पैर पर बल लगाते हुए वापस ऊपर उठें। अब अपने दोनों पैरों को मिलाकर खड़े हो जाएँ। इसी तरह उल्टे पैर से भी करें। और इसे लगभग 15 बार दोहराएं।

ज़रूरत से ज़्यादा वार्मअप भी ठीक नहीं

किसी भी एक्सरसाइज या दौड़ या हैवीवर्कआउट करने से पहले वार्मअप ज़रूरी होता है। लेकिन इसे सिर्फ़ सीमित मात्रा में ही करने से लाभ मिलता है। इसलिए ज़रूरत से ज़्यादा वार्मअप ना करें।

ज़रूरी टिप्स

कुछ लोगों का मानना है अगर वे लोग आधे घंटे एक्सरसाइज़ करने के बजाय दो घण्टे एक्सरसाइज़ करके पसीना बहाएंगे तो उन्हें ज़्यादा फ़िटनेस मिलेगी। जबकि यह सोचना बिलकुल ग़लत है, क्योंकि कोई भी चीज़ ज़रूरत से ज़्यादा की जाए तो उसका फ़ायदा कम नुकसान ज़्यादा होता है। एक्सपर्ट के अनुसार, ज़रूरत से ज़्यादा एक्सरसाइज करने से शरीर पर दबाव या आंतरिक चोट लगने का ख़तरा बना रहता है और कई बार तो जोड़ों में दर्द की शिकायत भी होने लगती है। इसलिए बेहद ज़रूरी है कि शारीरिक ज़रूरत के हिसाब से एक्सरसाइज के तरीके का चुनाव किया जाए और किसी एक्सपर्ट की देखरेख में ही एक्सरसाइज, वार्मअप, स्ट्रेच की जाए।