रसोई में आसानी से उपलब्ध होने वाला लहसुन का उपयोग आमतौर पर हम लोग मसालों में करते हैं। लेकिन आयुर्वेद में इसको औषधि के रूप में जानते हैं और इस गुणकारी लहसुन को दवा आदि के बनाने में प्रयोग करते हैं।

हमारे पूर्वज हमसे ज़्यादा जागरूक थे इसलिए उन्होंने हमारे खानें में औषधीय तत्वों वाले खाद्य पदार्थों का चुन चुन कर प्रयोग किया है। शोध द्वारा इसके गुणों के पता चलने पर चिकित्सा विज्ञान में इसके तत्वों को बहुत अधिक महत्व दिया गया है और कई एलोपैथिक दवाइयों में भी इसके तत्वों का प्रयोग किया गया है।

गुणकारी लहसुन

गुणकारी लहसुन के फ़ायदे

1. औषधीय गुण

लहसुन Alium नाम के एक पौधे के परिवार से है इसी परिवार में प्याज भी आता है। लहसुन में मौजूद Allicin ( एक प्रकार का सल्फर योगिक ) नाम का एक तत्त्व होता है जिसके कारण औषधीय गुणों को प्राप्त कर लेता है।

2. भरपूर विटामिन और खनिज तत्व

गुणकारी लहसुन में एक से ज़्यादा प्रकार के विटामिन होते हैं जो की शरीर की ज़रूरत को पूरा करते हैं। इसके आलावा इसमें ऐसे खनिज भी होते हैं जो की बहुत ही कम खाद्य पदार्थों में पाये जाते हैं।

लहसुन में मौजूद तत्वों की जानकारी

28 ग्राम लहसुन में निम्नलिखित तत्त्व होते हैं –

मैग्नीशियम: 23%
विटामिन बी6 : 17%
विटामिन : 15%
सेलेनियम: 6%
फ़ाइबर : 1 ग्राम
इसके आलावा इसमें कैल्शियम, कॉपर, आयरन और विटामिन B12 भी होता है।

3. रोग प्रतिरोधक क्षमता

सर्दी के मौसम में अक्सर लोग सर्दी जुकाम आदि से परेशान रहते हैं, अगर आप इस मौसम में गुणकारी लहसुन का सेवन करें तो इन बीमारियों से बचे रहेंगें। मौसमी बीमारियों से बचाने में तो लहसुन बहुत ही गुणकारी औषधि है। हर दिन लहसुन का प्रयोग करने वालों में सर्दी जुकाम होने की संभावना 63% तक घट जाती है।अगर किसी को सर्दी जुकाम हो जाए तो प्रतिदिन लहसुन का अर्क देने से लाभ मिलता है। सर्दी जुकाम के समय अपने खाने में लहसुन की मात्रा बढ़ा दे तो यह आपके स्वास्थ के लिए लाभकारी रहेगा। तो आप इस औषधि का नियमित प्रयोग करके कई रोगों से बच सकते हैं।

4. नियंत्रित ब्लड प्रेशर

आज कल हाई ब्लड प्रेशर होना एक आम समस्या है। इस बीमारी से आज कई लोग ग्रसित हैं। गुणकारी लहसुन के अर्क का इस्तेमाल करने से हाई ब्लड प्रेशर में कमी आती है। 24 घंटे के अंतराल पर 600 मिलीग्राम लहसुन का अर्क प्रतिदिन लेने वालों में इसका असर Atenolol नामक दवाई के बराबर देखा गया है।

Measuring blood pressure

5. हृदय घात से रक्षा

लहसुन में Cholesterol विशेषकर बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करने की क्षमता विद्यमान है। जो लोग हाई कोलेस्ट्रॉल से ग्रसित हैं उनके द्वारा लहसुन का सेवन करने से LDL (बैड कोलेस्ट्रॉल) की मात्रा में 10-16 % तक की कमी हो जाती है। इन सभी गुणों की कारण से लहसुन आपके रक्त वाहिनी ब्लॉक नहीं होने देता और हृदय घात से भी बचाता है।

6. अच्छी याददाश्त

ऑक्सीकरण के द्वारा निकले फ्री रेडिकल के कारण मस्तिस्क में मौजूद स्नायु तंतुओं में उम्र के साथ कमी आ जाती है। जिससे उम्र बढ़ने के साथ साथ लोगों की याददाश्त कमज़ोर होने लगती है। अगर भूलने की समस्या बढ़ जाए तो इसे अल्जाइमर कहते हैं।

गुणकारी लहसुन में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट इन फ्री रेडिकल को शरीर से बाहर निकालकर आपके मस्तिष्क को अल्जाइमर से बचाते हैं।

7. लम्बी उम्र

लहसुन हमें रोग मुक्त और स्वस्थ जीवन का उपहार देता है। जिससे हम लम्बे समय तक एक स्वस्थ जीवन जी सकते हैं।

Healthy active life

8. शारीरिक कार्यक्षमता

लहसुन शारीरिक कार्यक्षमता को बढ़ाने वाली दावा के रूप में भी प्रयोग किया जाता है। ग्रीस और मिस्र में धावकों को दौड़ने से पहले लहसुन दिया जाता था ताकि उनकी शारीरिक कार्यक्षमता बढ़ सके। एक शोध के अनुसार कुछ सप्ताह तक गुणकारी लहसुन के अर्क का सेवन करने से उनकी व्यायाम करने की ताक़त 6% तक बढ़ जाती है।

9. विषाक्त तत्वों का निकास

लहसुन में मौजूद सल्फ़र यौगिक शरीर में मौजूद मेटल टॉक्सिक तत्वों को बाहर निकालने में सक्षम है। एक शोध में पता चला है कि गुणकारी लहसुन शीशा जैसे तत्वों को शरीर से बाहर निकालने की क्षमता रखता है।

10. मज़बूत हड्डियाँ

हड्डियां कमज़ोर होने का मुख्य कारण हड्डियों से खनिज पदार्थों का निकल जाना है। गुणकारी लहसुन के तत्त्व हड्डियों में इन खनिज तत्वों की मात्रा को बनाये रखते हैं और जिससे मज़बूत बनती हैं।

अगर आप ने अब तक लहसुन का इस्तेमाल करना शुरु न किया हो तो इसके लाभ को जानकर अब प्रयोग करना शुरु कर दें ताकि आप स्वस्थ और रोग मुक्त रहें।

हमारा एक छोटा सा प्रयास कि इन लेखों के माध्य्म से आप सब को जागरुक कर स्वस्थ और हेल्दी बनने में मदद करें क्योकि जब आप स्वस्थ रहेंगे, तभी तो देश को ऊँचाइयों तक लेकर जायेंगे।

Tags – Healthy Garlic, Lahsun Ke Fayde, Lahsun Ke Labh, Lahsun Ke Gun, Garlic Benefits