उत्तर भारत में चाय की अपेक्षा कॉफ़ी का ज़्यादा प्रचलित नहीं है, परन्तु दक्षिण भारत में कॉफ़ी रोज़मर्रा की ज़िंदगी में शामिल है। वहाँ इसे लोग ख़ूब पसंद करते हैं। शोध से यह बात सिद्ध हो चुकी है कॉफ़ी का नियमित सेवन करने वाले लोग कई प्रकार की घातक बीमारियों के ख़तरे से बचे रहते हैं। यानि कॉफ़ी एक और उसके फ़ायदे अनेक। तो आज हम आपको कॉफ़ी पीने के कुछ फ़ायदों के बारे मे बताने जा रहे हैं।

कॉफ़ी पीने के लाभ

कॉफ़ी पीने के लाभ - Coffee beans

1. मोटापा घटता है

शोध से यह बात स्पष्ट हुई है कि कॉफ़ी में पाया जाने वाला कैफ़ीन प्राकृतिक रूप से मोटापा कम करने में सक्षम है। यह मानव शरीर का मेटाबॉलिज़्म को 11% तक बढ़ा देता है, जिससे शरीर से ऊर्जा ज़्यादा ख़र्च न होने से शरीर में चर्बी जमा नहीं हो पाती है। कॉफ़ी में चर्बी जलाने की इतनी अधिक कैपिसिटी है कि मोटे लोगों में 10% तक और पतले लोगों में 29% तक चर्बी को जला सकता है। लेकिन लम्बे समय तक कॉफ़ी का सेवन इसके फ़ायदे को कम कर देता हैं। इसलिए इसका सेवन लम्बे समय तक न करें।

2. ऊर्जा और बुद्धि मिलती है

कॉफ़ी में पाया जाने वाला कैफ़ीन, कॉफ़ी पीने के कुछ समय बाद हमारे रक्त के माध्यम से मस्तिष्क में पहुँचकर उसकी क्षमता को बढ़ा देता है। मस्तिष्क में एडेनसीन Adenosine हार्मोन को कम करके डोपमीन Dopamine हार्मोन का स्तर बढ़ देता है, जिससे आपका मस्तिष्क पहले से अधिक सजग और जागृत होता है, जिससे आपकी कार्य क्षमता बढ़ जाती है। कई शोध से यह साबित करते हैं कि कॉफ़ी पीने से याददाश्त बढ़ती है और मूड भी बेहतर हो जाता है।

3. शारीरिक कार्यक्षमता बढ़ती है

कॉफ़ी पीने से न केवल मस्तिष्क की कार्यक्षमता बढ़ती है, बल्कि शारीरिक कार्य क्षमता भी बढ़ जाती है। कैफ़ीन नामक तत्व रक्त में एड्रेनलिन Adrenaline हार्मोन के स्तर को बढ़ा देता है। जिससे शरीर अत्यधिक मेहनती कार्य के लिए
तैयार हो जाता है। कैफ़ीन शरीर की वसा की कोशिकाओं को फ़ैट रिलीज़ करने के निर्देश देता है जिससे नसों में फ्री फ़ैटी एसिड की मात्रा बढ़ जाती है और यह शरीर द्वारा ईंधन के रूप में प्रयोग की जाती है। शोध में पाया गया है कि कॉफ़ी पीने से आपकी कार्यक्षमता 10% तक बढ़ सकती है।

4. पोषक तत्त्व मिलते हैं

कॉफ़ी में कैफ़ीन अतिरिक्त अन्य पोषक तत्त्व भी मौजूद होते हैं, जैसे की विटामिन B2, विटामिन B5, मैग्नीज़, पोटैशियम और मैग्नीशियम। यह मात्रा शारीरिक आवश्यकता की दृष्टि से बहुत कम होती है किंतु पोषण का एक स्रोत हो सकती है।

5. मधुमेह की सम्भावना कम होती है

टाइप 2 मधुमेह आज के समय में एक बड़ी समस्या है। इसमें या तो इंसुलिन का स्राव नहीं होता या इंसुलिन काम ही नहीं करता। जिससे हमारे रक्त में शुगर की मात्रा बढ़ जाती है। इस बारे में बहुत ही बड़े स्तर पर शोध किया गया है जिससे पता चलता है कि प्रतिदिन एक कप कॉफ़ी पीने से टाइप 2 मधुमेह होने की संभावना 30% तक कम हो जाती है।

6. अवसाद से छुटकारा मिलता है

डिप्रेशन या अवसाद एक मानसिक बीमारी होती है। आज अधिकांध लोग इससे ग्रस्त हैं लेकिन वे इसके प्रारम्भिक लक्षणों को समझ न पाने के कारण मानसिक विकार की चपेट में आ जाते हैं। जो महिलाएं प्रतिदिन 4 कप कॉफ़ी पीती हैं, उनके अवसाद ग्रस्त होने की संभावना 20% तक कम हो जाती है। एक शोध से पता चला है कि कि जो प्रतिदिन 4 कप कॉफ़ी पीने वालों में आत्महत्या करने की संभावना 53% तक कम होती है। यह शोध 2 लाख लोगों के सैम्पल पर किया गया था।

7. लीवर सही रहता है

हेपेटाइटिस जैसी ऐसी कई बिमारीयां हैं जो लीवर को बहुत नुकसान पहुँचाती हैं। प्रतिदिन 4 कप कॉफ़ी के सेवन से आप अपने लीवर को सिरॉसिस cirrhosis नामक स्थिति से 80% तक बचा सकते हैं।

8. उम्र बढ़ती है

बड़े पैमाने पर किये गए शोध से पता चला है कि कॉफ़ी पीने से पुरुषों में 20% तक और महिलाओं में 24% आकस्मिक मृत्यु होने की संभावना कम हो जाती है।

9. एंटीऑक्सीडेंट की पूर्ति होती है

एंटीऑक्सीडेंट शरीर के लिए बहुत आवश्यक होता है। इसकी सही मात्रा मिलती रहे तो शरीर हष्ट पुष्ट और जवान रहता हैं। प्राकृतिक रूप से फल और सब्ज़ियों से ज़्यादा कॉफ़ी में एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा होती है। अत: कॉफ़ी का सेवन का महत्व को समझें और रोज़ पिएँ।

10. कैंसर से बचाव होता है

कॉफ़ी के सेवन से लीवर कैंसर और कोलेरेक्टल कैंसर दोनों से बचा जा सकता है। शोध से यह बात स्पष्ट है कि कॉफ़ी पीने वाले लोगों में लीवर कैंसर होने की संभावना 40 % तक और कोलोरेक्टल कैंसर की सम्भावना 14 % तक कम हो जाती है।

loading...