मसूड़ों में सूजन दूर करने के उपाय

मसूड़ों में सूजन एक आम समस्या है। इसे जिंजाइवल सूजन भी कहा जाता है। इससे ब्रश करने और खाना चबाने में भी कठिनाई आती है। मसूड़ों का रंग गुलाबी होता है लेकिन ऐसी स्थिति में मसूड़ों का रंग लाल हो जाता है। कुछ मामलों में तो मसूड़ों से ख़ून भी आने लगता है। मसूड़ों में सूजन आने के कई कारण हो सकते हैं जैसे जिंजिवीटीज, पोषक तत्वों की कमी, मुंह में होने वाले संक्रमण आदि।
मसूड़ों में सूजन का उपचार

मसूड़ों में सूजन का उपचार

1. नमक के पानी से कुल्ला करें

मुंह से संबंधित समस्याओं से छुटकारा पाने में नमक का पानी बहुत फ़ायदेमंद होता है। नमक के पानी से कुल्ला करने से मुंह में होने वाले संक्रमण से बचाव होता है जो मसूड़ों में सूजन आने का एक कारण है।

2. लौंग

मसूड़ों में सूजन दूर करने की यह पारम्परिक पद्धति बहुत प्रभावकारी है। लौंग में यूगेनोल होता है जिसमें एंटीऑक्सिडेंट और सूजन को दूर करने का गुण होता है। लौंग से मसूड़ों का दर्द भी दूर हो जाता है।

4. बबूल की छाल

मसूड़ों की सूजन से छुटकारा पाने का यह दादी मां का नुस्खा है। बबूल के पेड़ की छाल मसूड़ों की सूजन से छुटकारा दिलाने में जादू की तरह काम करती है। आप बबूल की छाल को पानी में उबालकर माउथवॉश भी बना सकते हैं। तुरंत राहत पाने के लिए दिन में दो से तीन बार इस घरेलू माउथवॉश से गरारे करें।

4. एलो वेरा (घृतकुमारी)

एलो वेरा जेल एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल होता है। यह मसूड़ों में सूजन को दूर करने, मसूड़ों से ख़ून आने तथा मुंह के संक्रमण जैसी समस्याओं को दूर करने में सहायक होती है।
मसूड़ों में सूजन में एलो वेरा का प्रयोग

5. सरसों का तेल

सरसों के तेल का रोगाणुरोधी गुण सूजन को दूर करने तथा मसूड़ों की सूजन से राहत पहुंचाने में लाभदायक होता है। सरसों के तेल में थोड़ा नमक मिलाकर मसूड़ों पर लगायें। इस उपचार का नियमित अपनाने से आपको जल्द ही संक्रमण से छुटकारा मिल जाएगा।

6. कैस्टर ऑयल (एरंड का तेल)

एरंड के तेल में सूजन कम करने वाला अचूल गुण होता है जो मसूड़ों में सूजन कम करने का एक प्रभावी घरेलू उपचार है। जहाँ हो रहा हो वहाँ इसे लगाने से दर्द तथा सूजन से काफ़ी आराम मिलता है।

7. अदरक

मुंह के संक्रमण से बचने के लिए अदरक का प्रयोग प्राचीन काल से किया जाता रहा है। अदरक में सूजन कम करने का गुण होता है जो मसूड़ों में सूजन से राहत दिलाता है तथा मुंह में होने वाले बैक्टीरिया से रक्षा भी करता है।
मसूड़ों में सूजन में अदरक का प्रयोग

8. नींबू का पानी

नींबू के क्षारीय प्रभाव से मसूढ़ों में सूजन लाने वाले बैक्टीरिया को पनपने नहीं देता। मसूड़ों में सूजन हो तो आराम पाने के लिए प्रतिदिन सुबह नींबू के पानी से कुल्ला करें।

9. हाइड्रोजन पैरॉक्साइड

यह मुंह की अनेक समस्याओं का एक आसान उपचार है। इसमें ऐसे यौगिक पर्याप्त मात्रा में होते हैं जो रोगाणुओं को मारते हैं तथा संक्रमण को आगे फैलने से रोकते हैं। इसलिए यह मसूड़ों की सूजन दूर करने में भी सहायक है। इसे पानी के साथ मिलाकर सप्ताह में दो बार इस घोल से कुल्ला करें।

10. टी ट्री ऑइयल

टी ट्री ऑयल से मसूड़ों की मालिश करने से सूजन से आराम मिलता है। यह काफ़ी हद तक परेशानी को कम करता है तथा बिना किसी साइडइफ़ेक्ट के सूजन को कम करता है।

Previous articleछत्तीसगढ़ में 10 हज़ार साल पुराने एलियंस के सबूत
Next articleनींबू का अचार बनाने की विधि