सुबह अच्छी हो तो दिन भी अच्छा गुज़रता है। अगर हम चाहें तो हमारी हर सुबह गुड मार्निंग हो सकती है। इसके लिए आपको उन ग़लतियों से परहेज़ करना होगा, जिनसे हमारा स्वास्थ्य प्रभावित होता है। ये ग़लतियाँ न केवल किसी दिन को ख़राब करती हैं, बल्कि गंभीर बीमारियों को न्यौता भी देती हैं।

गुड मार्निंग
Good morning

गुड मार्निंग के टॉप मिस्टेक्स

1. उठते ही काम करना

सुबह आंख खुलने के बाद ख़ुद को रिलैक्स कीजिए और दाईं करवट लेकर शिथिल पड़ी ऊर्जा को एकत्र करके पूरे शरीर में संचरित कीजिए। इसके बाद कुछ देर लम्बी और गहरी सांस भरिए। प्यास लगी हो तो तांबे के लोटे में रखे पानी को पिएँ

2. अंगड़ाई न लेना

रीढ़ की हड्डी और अनेक मांसपेशियाँ सोते समय कस जाती हैं, सुबह जगने के बाद इन्हें ढीला करने के लिए आपको अंगड़ाई लेनी चाहिए। शरीर को पूरी तरह स्ट्रेच करके बांहें फैलाकर सुबह की ऊर्जा को ग्रहण कीजिए। इससे दिन भर आलस्य और नींद से बचे रहेंगे।

3. चाय पीना

सुबह उठकर बिना कुछ खाए बेड टी पीना स्वास्थ्यकर नहीं है। खाली पेट चाय का सेवन ठीक नहीं होता है। हमें सुबह उठकर नींबू पानी का सेवन करना चाहिए, इससे हमारे शरीर के टॉक्सिन बाहर निकल जाते हैं, साथ ही मेटबलिज़्म और इम्यूनिटी बढ़ती है।

Healthy breakfast
Healthy breakfast

4. ब्रेकफ़ास्ट न करना

सुबह का नाश्ता करना बहुत ज़रूरी है, क्योंकि रात का खाना खाने में बाद सुबह तक हम कुछ नहीं खाते हैं तो इससे शरीर में शुगर लेवल घट जाता है और सुबह-सुबह सुस्ती महसूस करते हैं। चाय-बिस्किट खाने की जगह भिगोए हुए बादाम, रोटी और फल से दिन की शुरुआत करने से शरीर को पर्याप्त ऊर्जा मिलती है। ब्रेकफ़ास्ट न करने वाले अक्सर डायबिटीज़, मोटापे और लो इम्यूनिटी के शिकार बन जाते हैं।

5. मोबाइल चेक करना

सुबह सुबह आंख खुलते ही मोबाइल पर ईमेल्स और मैसेज चेक करने से तनाव हो सकता है। जो आपका पूरा दिन ख़राब करने के लिए काफ़ी है।

6. व्यायाम न करना

पोषण, व्यायाम, सकारात्मक सोच और आराम हमारे स्वास्थ्य के चार स्तंभ हैं। कोई भी स्तंभ कमज़ोर हो जाएँ तो बीमारियाँ हमें घेर लेती हैं। सुबह सुबह आधा घंटे व्यायाम करना, टहलना, योग, प्राणायाम आदि को दिनचर्या में शामिल करें।

Morning exercise
Morning exercise

7. मुस्कुराकर बात न करना

आपने लॉफ़्टर क्लब के बारे में ज़रूर सुना होगा। इसमें लोग सुबह उठकर हंसते हैं ताकि उनका इम्यून सिस्टम मज़बूत हो, हार्ट बीट सामान्य रहे और ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहे। इसलिए मुस्कुराने वाली हर बात पर मुस्कुराएँ और गुड मार्निंग पाएँ।

8. व्यायाम न बदलना

शरीर के किसी विशेष भाग की एक्सरसाइज़ रोज़ करने से उस हिस्से पर ज़्यादा दबाव पड़ता है। इसलिए रोज़ बदल बदल कर अलग अलग बॉडी पार्टस की एक्सरसाइज़ करनी चाहिए। इससे न केवल रूटीन बदलता है, बल्कि मेटाबलिज़्म भी अच्छा रहता है।

9. ग़ुस्सैल स्वभाव

ग़ुस्सैल स्वभाव से किसी को परेशानी हो या न हो, लेकिन आपके शरीर को काफ़ी नुक़सान पहुंचता है। इससे नेगटिव एनर्जी आपको घेर लेती है, जो आपकी हेल्थ के लिए बिल्कुल भी ठीक नहीं है। आप अपने विचारों पर लगाम कसें और घर में ख़ुशी भरा माहौल बनाए रखें।

10. प्लानिंग न करना

प्लानिंग हमारी लाइफ़ को सिम्पल बनाती है। दौड़ भाग भरी ज़िंदगी में कोई काम बढ़ जाए तो तनाव हो जाता है, जिससे दिल पर दबाव बन जाता है। अगर प्लानिंग से चला जाए तो दिन महीने साल क्या पूरी ज़िंदगी ख़ुशहाल गुज़रती है।

गुड मार्निंग के लिए टिप्स

– बिस्तर से उठते ही ईश्वर से प्रार्थना करें।
– अपना चेहारा आइने में देखकर मुस्कुराएँ या किसी अपने की फ़ोटो देखकर भी मुस्कुरा सकते हैं।
– ख़ाली पेट तांबे के बर्तन में रखा हुआ पानी पिएँ, इससे शरीर को पोषक तत्व मिलते हैं और बॉडी टॉक्सिन से मुक्त हो जाती है।
– एनर्जी बढ़ाने के लिए योग, व्यायाम, टहलना या साइकलिंग करें।
– नींबू पानी पीकर हैवी ब्रेकफ़ास्ट करें।
– ज़रूरी कामों की सूची बनाकर उनको पहले निपटाएँ।
– समय की कमी होने पर भी तनाव मुक्त रहने का प्रयास करें, इससे स्वास्थ्य लाभ मिलेगा।
– हर काम आपकी इच्छा से नहीं हो सकता है, इसलिए संयम और शांति रखें; और संतोष करें।

इन बातों का ध्यान रखेंगे तो आपके साथ-साथ आपकी फ़ैमिली की भी मार्निंग वेरी गुड हो जाएगी।