साबुत धनिया का उपयोग रसोईघर में सुगन्धित मसालों के रूप में किया जाता है। हरी धनिया का उपयोग सब्ज़ियों में सुगंधित बनाने तथा भोज्य पदार्थों को सुंदर व रुचिकर बनाने व चटनी बनाने के लिए भी किया जाता है। धनिया को अंग्रेजी Coriander कहते हैं। इसका वानस्पतिक नाम कोरिएनड्रम सटिवुम _ Coriandrum Sativum है। धनिया में बहुत सारे पौष्टिक तत्व और औषधीय गुण मौजूद हैं।

साबुत धनिया में प्रोटीन, वसा, फ़ाइबर, कार्बोहाइड्रेट, मिनरल्स आदि पाया जाते हैं। इसके अलावा हरे धनिया की पत्‍ती में कैल्शियम, फास्फोरस, आयरन, कैरोटीन, थियामीन, पोटोशियम और विटामिन सी भी पाया जाता है। आज हरा धनिया के गुण और साबुत धनिया के फ़ायदों के बारे में जानेंगे।

हरी धनिया के पत्ते
Coriander Leaves

हरी धनिया के गुण

1. सिर दर्द भगाये

हरे धनिया की पत्ती को पीसकर बालों में गाढ़ा लेप लगाने से सिर दर्द दूर हो जाता है।

2. उल्टी में राहत

हरा धनिया के पत्तों का रस थोड़ी थोड़ी देर में एक चम्मच पीने से उल्टी बंद हो जायेगी।

3. लू से बचाये

हरे धनिया को पीसकर इसके रस को पानी और चीनी के साथ मिला कर पीने से गर्मियों में लू से राहत मिलती है।

4. मधुमक्खी या बर्रे के डंक में राहत

मधुमक्खी या बर्रे डंक मार दें तो हरी धनिया की पत्ती को पीसकर उसमे 2 बूंंद सिरका मिलाकर डंक वाले स्थान पर लगाने से दर्द दूर हो जाता है।

5. झुर्रियां हटाये

हरी धनिया में एंटी ऑक्‍सीडेंट काफ़ी मात्रा में होता है जिसके उपयोग से त्‍वचा में खिंचाव आ जाता है। जिससे चेहरे पर दाग़ धब्बे और झुर्रियां गायब हो जाती हैं।

6. गंजापन दूर करे

हरी धनिया की पत्ती को पीसकर इसका गाढ़ा लेप बालों में लगाने से गंजेपन की समस्या दूर होती है।

7. नकसीर में राहत

ताज़ी धनिया की पत्ती को सूंघने से नकसीर बन्द हो जाता है।

8. मस्‍सों से मुक्ति

हरी धनिया को पीसकर इसका पेस्ट रोज़ाना मस्सों पर लगाएं और मस्सों से छुटकारा पाएं।

9. आंखों की रोशनी बढ़ाएं

हरी धनिया में विटामिन ए भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो आंखों के लिए बहुत आवश्‍यक होता है। रोज़ाना हरी धनिया खाएं और आँखों की रोशनी बढ़ाएं।

Coriander seeds and leaves
Coriander seeds and leaves

सूखी धनिया के गुण

1. मूत्र रोग में राहत

1 कप बकरी के दूध में थोड़ी सी मिश्री और थोड़ी सी सूखी धनिया मिलाकर पी जाएँ इससे पेशाब में जलन की समस्या दूर हो जायेगी।

2. बदहज़मी में लाभप्रद

थोड़ी सी सूखी धनियां और 3 लौंग को पीसकर 3 रत्ती की मात्रा में सेवन करने से डकार एवं बदहज़मी में लाभ मिलता है।

धनिया के उपयोग

1. दो चमच हरे धनिये के रस में 1 चुटकी हल्दी पाउडर मिलाकर चेहरे पर लगाएं व 15 मिनट बाद सादे पानी से चेहरा धो लें।यह मास्क चेहरे के कील-मुहाँसों को दूर कर त्वचा को मुलायम बनाता है।

2. हरा धनिया का उपयोग सब्ज़ियों में सुगन्ध व चटनी बनाने के लिए किया जाता है। हरी धनिया की पुदीना मिलाकर बनाई जाने वाली चटनी हमारे शरीर को आराम देती है। इसको खाने से नींद भी अच्छी आती है।

औषधीय गुणों से भरपूर धनियां की चटनी भी बनाएं और मसालों में भी भरपूर उपयोग करें।