पुरुषों की सेहत के लिए ज़रूरी पोषक तत्व

माता पिता बनना हर पति पत्नी का एक सपना होता है। जिसे साकार रूप देने के लिए दोनों को स्वास्थ्य रहना बेहद ज़रूरी होता है। लेकिन कभी कभी कुछ महिलाए लंबे समय तक गर्भधारण नहीं कर पाती। इसके पीछे के कई कारण जैसे तनाव, पार्टनर का हेल्थ या कोई अन्य कारण भी हो सकता है। गर्भधारण न हो पाने के कारणों को जानने के लिए दोनों को विशेषज्ञ से मिलकर सलाह लेनी चाहिए। क्योंकि यह जानना बहुत ज़रूरी होता है ताकि जिसे भी यह समस्या हो उसकी उस समस्या का निदान कर सकें। कभी कभी तो पुरुषों में कुछ विटामिन की कमी के कारण प्रजनन और यौन क्षमता प्रभावित होती है। इसके लिए ज़रूरी है कि पोषक तत्वों से युक्त आहार को ग्रहण करें। आइए पुरुषों की सेहत के लिए ज़रूरी पोषक तत्वों के बारे में जानें।

पुरुषों की सेहत
Purushon Ki Sehat Ke Liye Tips

पुरुषों की सेहत और खानपान

1. ओमेगा-3 फैटी एसिड

पुरुषों के अच्छे स्वास्थ्य और शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने के लिए ओमेगा 3 फैटी एसिड का सेवन बहुत ज़रूरी है। यह सबसे ज़्यादा सोलेमन मछली में पाया जाता है।

2. विटामिन डी

एक शोध के अनुसार विटामिन डी कई घातक बीमारियों जैसे दिल की बीमारी, कोलेस्ट्रॉल आदि से बचाने के लिए बहुत ज़रूरी होता है। इसके अलावा पुरुषों की फर्टिलिटी बढ़ाने में में विटामिन डी अहम भूमका निभाता है। इसलिए नियमित रूप से 1000 आईयू विटामिन डी नियमित रुप से पुरुषों को लेना चाहिए।

3. लाइकोपीन

पुरुषों की सेहत के लिए लाइकोपीन का सेवन बहुत ज़रूरी है। क्योंकि यह एंटीऑक्‍सीडेंट का बहुत अच्‍छा स्रोत है जो सबसे अधिक टमाटर में पाया जाता है। एक शोध के अनुसार लाइकोपीन हमे कई जानलेवा बीमारियों जैसे कैंसर आदि से बचाता है और सेहत का ख़ास ख़याल रखता है।

4. मल्‍टीविटामिन

एक शोध के अनुसार पुरुषों के उत्तम स्वास्थ्य और शारीरिक विकास के लिए मल्टीविटामिन का सेवन बहुत ज़रूर है। क्योंकि यह शुक्राणुओं के गुणधर्म को बढ़ाने में सहायक होते हैं। मल्‍टी-विटामिन के सेवन से मानसिक विकारों और तनाव को कम कर, स्मरण शक्ति और यौन क्षमता को बढ़ाया जा सकता है। मल्‍टीविटामिन में विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन डी, विटामिन ई और विटामिन के आते हैं। लेकिन ध्यान रहें इन मल्‍टीविटामिन का सेवन अधिक मात्रा में न करें।

5. फोलिक एसिड

एक शोध के अनुसार महिलाओं के साथ साथ पुरुषों को भी अपने उत्तम स्वास्थ्य के लिए फोलिक एसिड का सेवन करना चाहिए।

6. जिंक का सेवन

जिंक भी शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने में सहायक हैं। इसलिए जिंक से युक्त आहार जैसे ब्राजील नट्स, सी फूड और ट्यूना मछली आदि को भोजन के रूप में ज़रूर सेवन करें।

Keywords – Purushon Ki Sehat, Purushon Ki Health, Men’s Health, Health Tips in Hindi

Previous articleमलेरिया से बचने के 10 उपाय
Next articleचिकनगुनिया के लक्षण, इलाज और बचाव