Spirituality in life

आज जीवन में मनुष्य ख़ुशी पाने की तलाश में पैसे के पीछे भाग रहा है, लेकिन न उसको कहीं सुख प्राप्त हो रहा है और न ही मानसिक शांति। छोटी छोटी बातों पर गुस्सा होना, तनाव में रहना ये मानव के व्यवहार का हिस्सा बन जा रहा है। जीवन में लगातार उतार चढ़ाव के कारण मानव बहुत तनाव में रहने लगा है और इन तनाव से निकलने के लिए भावात्मक संतुलन ज़रूरी है और इसके लिए जीवन जे हर क्षेत्र में अध्यात्म का होना ज़रूरी हैं। सुन्दर, सरल और सहज जीवन जीने की कला अध्यात्म में छिपी है। योग, ध्यान, भक्ति और दुर्बलों की सेवा और त्याग से व्यक्ति के मन में अध्यात्म की भावना विकसित होती है। चित्त को स्थिर और शांत करने का एक तरीका है अध्यात्म।

Spirituality for success and peace in Hindi

#1 बच्चों के जीवन में

Develop moral value

बच्चे की विकास की नींव पहले परिवार में और फिर स्कूल में रखी जाती है। अतः यह ज़रूरी होता है कि बच्चों में नैतिक गुणों का विकास किया जाए। वो सत्य बोले, ईमानदारी के रस्ते को अपनाए, प्रातः काल भगवान का ध्यान करे और अपने से बड़ो का सम्मान करे। याद रखिए कि नींव अच्छी होगी तो भवन मज़बूत होगा।

#2 भटक ना जाये युवा वर्ग

Pathway to success

आज के जागरुक युवा पीढ़ी के बच्चों को समझना भी एक कला है। जो माता पिता इस कला को सीख जाते हैं उनके बच्चे हर क्षेत्र में सफल होते हैं। अध्यात्म मानव में आत्मविश्वास भर देता है और उनमें सकारात्मक सोच भी उत्पन्न करता है। जिससे वे चिंता और तनाव से कोसों दूर रहते हैं।

#3 तनाव से मुक्त युवा

Adopt the mental peace

चाहे महिला हो या पुरुष, हर किसी को अलग-अलग पड़ाव में अपनी अपनी ज़िम्मेदारी को निभाना पड़ता है। चाहे वह घर हो या ऑफ़िस दोनों के बीच संतुलन बना के चलना पड़ता है। यदि हम अपने जीवन में थोड़ा-सा समय अध्यात्म को दे दें, तो तनाव मुक्त होकर और समझदारी से अपने लक्ष्य को पा सकते हैं। साथ ही अपने जीवन को और भी सुखद और आनंदमय बना सकते हैं।

अध्यात्म हमारे चित्त व मन को स्थिर रखता है अगर मानव किसी समस्या से ग्रस्त है तो अध्यात्म उसे सही राह दिखाता है ताकि वो अपनी तनाव भरी ज़िंदगी से निकल कर एक सरल और सहज जीवन जी सके।