आगरा का पेठा

आगरा का सबसे ज़्यादा मशहूर पेठा है। जिसके स्वाद को चखने के लिए लोग दूर दूर से आते है। पेठा पेठा फल या खबड़े का बनता है। इसे बनाने के लिए पेठे फल के टुकड़ों को चाशनी में डुबाया जाता है और तब पेठा बनकर तैयार होता है। आइए आज हम आपको प्रसिद्ध आगरा का पेठा बनाने का तरीका बताते हैं…

[recipe title=”आगरा का पेठा” servings=”2Kg” time=”01:45:00″ difficulty=”Medium” image=”https://lifestyletips.in/wp-content/uploads/2017/03/agra-petha-recipe.jpg” description=”भारतीय मीठे व्यंजनों में आगरा का पेठा विश्व प्रसिद्ध है। आप इस रेसिपी को पढ़कर अपने घर पर आगरा के मशहूर पेठे बना सकते हैं।” print=”false”]

आगरा का पेठा रेसपी

Agra Ka Petha Recipe in Hindi

[recipe-ingredients title=”आवश्यक सामग्री”]
– 1 किलो पेठा फल
– 1½किलो चीनी
– 5 बड़ा चम्मच दूध
– 1 चम्मच केवड़ा एसेंस
– 150 ग्राम चूना
[/recipe-ingredients]

[recipe-directions title=”आगरा का पेठा बनाने का तरीका”]
– सबसे पहले पेठे को छील लें।

– अब इसके बीच का गूदा और सारे बीज को निकाल कर चौकोर टुकड़ों में काट लें।

– पेठे के इन चौकोर टुकड़ो को काँटे वाले चम्मच से गोद दें।

– गोदने से चाशनी इसके अंदर तक जा सकेगी। जिससे पेठे रसीले बनते हैं।

– एक बर्तन में 2 लीटर पानी लीजिए और इसमें चूने को घोल लें।

– अब इसमें पेठे के टुकड़े डालकर लगभग 3 घंटे के लिए ढककर रख दीजिए।

– लगभग 3 घण्टे बाद पेठे के टुकड़ों को चूने के पानी से निकाल कर साफ़ पानी से 4 से 5 बार धो लें।
[/recipe-directions]

[recipe-directions title=”पेठे की चाशनी बनाने के लिए”]
– एक बर्तन में 1 लीटर पानी और चीनी को डालकर उबलने के लिए रख दें।

– चाशनी साफ बने इसके लिए इसमें 4 चम्मच दूध मिलाएँ।

– अब चाशनी में ऊपर कुछ बुज्जे दिखेंगे इन्हें कलछी से निकालते रहें।

– पानी में उबाल आने के 10 मिनट बाद 1 कप पानी मिलाकर फिर से उबालकर एक तार की चाशनी बना लें।

– ध्यान रहें चाशनी में पानी उतना डालें जिससे सारे पेठे के टुकड़े चाशनी में डूब जाएँ।

– जब चाशनी में एक तार बनने लगे तब पेठे के टुकड़ों को इस चाशनी में डाल दें और इसे धीमी आँच पर पकने दें।

– इसे लगभग 40 से 45 मिनट तक पकाएँ और इन्हें बीच-बीच में चम्मच से चलाते रहें ताकि पेठे जले नहीं।

– ध्यान रहें इन्हें तब तक पकाएँ जब तक पेठे पक कर हल्के नरम न हो जाएं।

– जब पेठे पक जाएँ तब चाशनी में केवड़ा एसेंस की 4 से 5 बूंद डाल कर मिला लीजिए।

– पेठे को चाशनी में पूरी रात डूबा रहने दें और सुबह इन्हें चाशनी से निकालकर फ़्रिज में लगा दें।

– जब भी कुछ मीठा खाने का मन करें तब इन्हें फ़्रिज से निकालकर ठंडा ठंडा आगरे के पेठे का आनंद उठायें।
[/recipe-directions]
[/recipe]