सौंफ एक अच्छा माउथ फ्रेशनर है जिसका उपयोग अक्सर हम लोग भोजन करने के बाद करते हैं। इसके अलावा सौंफ का उपयोग मसाले में सब्ज़ी को ख़ुशबूदार बनाने के लिए करते हैं। सौंफ के अर्क और सौंफ की चाय का उपयोग स्वास्थ्य में सुधार के लिए करते हैं। सौंफ की चाय को पीने से हार्ट प्रॉब्लम, मासिक धर्म के दर्द, एसीडिटी, गैस, कब्ज़, आँखों की सूजन आदि समस्याएं दूर होती है। साथ ही सौंफ में मौजूद पोषक तत्व आपकी सेहत का भी ख़ास ख्याल रखते हैं।

सौंफ़ की चाय

सौंफ की चाय बनाने की विधि

Saunf Ki Chai – Fennel Tea Recipe in Hindi

सौंफ की चाय बनाने के लिए एक बर्तन में 1 गिलास पानी और 1 चम्मच सौफ डालकर कुछ देर तक कम आंच में उबाल लीजिए। फिर इसे छान लें। छानने के बाद इसे सिप सिप करके पिएं। कुछ ही दिनों में आपको अपने स्वास्थ्य में बेहतर फर्क नज़र आने लगेगा।

पोषक तत्व

सौंफ में ताँबा, आयरन, कैल्शियम, पोटैशियम, मैगगनीज, जिंक, फ़ाइबर और मैग्नीशयम जैसे कई पोषक तत्व पाए जाते हैं।

सौंफ की चाय पीने के फ़ायदे

Fennel Tea Benefits

1. एसीडिटी से बचाए

कई बार एसीडिटी से हमारे पेट में जलन होने लगती है और खट्टी डकारें भी परेशान करनी लगती है। एसीडिटी की समस्या से छुटकारा पाने के लिए बस एक कप सौंफ की चाय बनाएं और इसे पी जाएं। कुछ ही देर में पेट की जलन शांत हो जाएगी। इसके अलावा एसीडिटी होने पर कुछ तुलसी की पत्तियों को धीरे धीरे चबाइएं। इससे भी एसीडिटी होने पर तुरंत राहत मिलती है।

2. हाजमा ठीक रखे

आप लोग खाना खाने के बाद सौंफ तो ज़रूर खाते होंगे। सौंफ में फाइबर की अधिक मात्रा पाई जाती है जिससे भोजन करने के बाद इसका सेवन करने से आपका हाजमा भी ठीक रहता है और गैस या अम्ल पित्त की समस्या भी नहीं होती है। इसके अलावा दिन में एक कप यह चाय पीने से आपको पेट से जुड़ी अन्य समस्याएं भी नहीं होंगी।

3. मासिक धर्म के दर्द की समस्या दूर करे

जिन स्त्रियों को मासिक धर्म के समय दर्द ज़्यादा होता है वे लोग पीरियड के समय एक कप सौंफ की चाय पिएं। मासिक धर्म के समय सौंफ की चाय पीने से दर्द में आराम मिलता है।

4. एक्सट्रा फैट घटाने में सहायक

एक्स्ट्रा फैट को कम करने के लिए रोज़ाना एक कप सौंफ की चाय पिएं। इसके नियमित सेवन से शरीर में फैट एकत्रित नहीं हो पाता है। साथ ही शरीर में रक्त का संचार अच्छे से होता है। इससे मेटाबॉलिज्म बढ़ता है और भूख कम लगती है। जिससे एक्स्ट्रा फैट को कम करने में मदद मिलती है।

5. पेट के कीड़े नष्ट करे

सौंफ पेट में जा कर एसिड लेवल को कम करती है और आंत में पनप रहे बैक्‍टीरिया और कीड़े को नष्‍ट करती है। इसीलिए सौंफ को चबाएं और सौंफ की चाय को पिएं।

6. प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाए

रोज़ाना यह चाय पीने से प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत होती है। जिससे आपके शरीर को रोगों से लड़ने की शक्ति मिलती है और आप हमेशा सेहतमंद बने रहते हैं।

7. स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए फ़ायदेमंद

अगर स्‍तनपान कराने वाली महिला को दूध कम बन रहा हो, तो वह कुछ दिनों तक एक कप सौंफ की चाय पिएं। इससे उन्हें फ़ायदा होगा।

8. आंखों की सूजन कम करे

किसी कारण वश रात में अगर आपकी नींद पूरी न हो पाएं, तो सुबह सुबह आँखों के नीचे हल्की सूजन आ जाती है। इस सूजन को दूर करने के लिए सौंफ की चाय बनाकर ठंडा कर लें। फिर रूई के फोहे को इसमें डुबो कर आंखों पर 10 मिनट के लिये रख दीजिए। इससे आंखों की सूजन कम होती है और आँखों को बहुत आराम मिलता है।

9. हृदय का ख़ास खयाल रखे

सौंफ की चाय में मौजूद विटामिन और एन्टीऑक्सिडेंट तत्व आपके दिल का ख़ास ख्याल रखते हैं। अपने हृदय का ख़ास खयाल रखने के लिए एक कप सौंफ की चाय ज़रूर पिएं।

10. आर्थराइटिस के दर्द को दूर करे

रोजाना एक कप सौंफ की चाय पीने से आर्थराइटिस या जोड़ों के दर्द में राहत मिलती है।