एक ही मुद्रा में लगातार बैठकर काम करने से जब शरीर का कोई अंग अधिक देर तक दबाव में रहता है, तो वह अंग सुन्न पड़ने लगता है और उस अंग में हल्की झन झनाहट महसूस होने लगती है। जैसे ही उस अंग पर से दबाव हट जाता है वैसे ही शरीर में रक्त और ऑक्सीजन का संचार अच्छे से होने लगता है और पुनः उस अंग में संवेदनशीलता लौट आती है। शरीर के किसी अंग के सुन्न होने का प्रमुख कारण शरीर में रक्त का संचार अच्छे से न हो पाना है। यदि शरीर में रक्त का संचार अच्छे से होने लगे तो अंग सुन्न नहीं होगा। आज हम भी आपको हाथ-पैर सुन्न पड़ जाने का घरेलू उपचार बताने जा रहे हैं इन घरेलू उपायों से भी आपको बहुत राहत मिलेगी।

हाथ-पैर सुन्न

हाथ-पैर सुन्न पड़ जाने का घरेलू उपचार

– 1 चम्मच दालचीनी पाउडर में 1 चम्मच शहद मिलाकर सेवन करने से शरीर में रक्त का संचार अच्छे से होता है। जिससे सुन्न अंग जल्दी ठीक हो जाता है।

– 1 चम्मच सोंठ और 5 लहसुन की कलियों को को पीस कर पेस्ट बना लीजिए। फिर इस पेस्ट को लेप की तरह सुन्न स्थान पर लगाएं। इससे बहुत लाभ मिलेगा।

– पीपल की कोमल चार कोंपलों को सरसों के तेल में मिलाकर पकाएं। फिर इस तेल को छानकर सुन्न अंग पर लगाने से फ़ायदा मिलेगा।

– 50 ग्राम नारियल के तेल में 2 ग्राम जायफल का चूर्ण मिलाकर सुन्न अंग पर लगाएं। इससे काफ़ी लाभ प्राप्त होगा।

– सुन्न पड़े अंग पर अमलताश के पत्तो को बांधने से सुन्न पड़ा अंग ठीक हो जाता है।

– 1 चम्मच सरसों के तेल में कुछ बूंद तुलसी के रस की मिला लीजिए। फिर इस मिश्रण से सुन्न पड़े अंग की मालिश करें। इससे राहत मिलेगी।

Reading Hand-Foot Numbness Home Remedies in Hindi

Numb hand

– 5 ग्राम चोपचीनी, 2 ग्राम पीपरामूल और 4 ग्राम मक्खन इन तीनों सामग्री को आपस में मिलाकर रख लीजिए। 1 चम्मच मिश्रण का सुबह-शाम दूध के साथ सेवन करें। इससे जल्द ही आराम मिलेगा।

– सुन्न पड़े अंग पर गुनगुने देशी घी से मालिश करने से सुन्नपन धीरे धीरे चला जाएगा।

– एक गांठ लहसुन की छीलकर इसका पेस्ट बना लीजिए फिर इस पेस्ट को हाथ-पैर सुन्न होने पर लगाएँ। इससे आराम मिलेगा।

मालकांगनी की 10 बूंद तेल का सेवन करने से भी अंग का सुन्न पन ठीक हो जाता है।

– तिल्ली के तेल में 1 चम्मच अजवायन तथा लहसुन की 3 जवा डालकर पका लें। फिर इस तेल से सुन्न स्थान की मालिश करने से फ़ायदा मिलेगा।

– कालीमिर्च तथा काली इलायची को पानी में पीस लीजिए। फिर इस पेस्ट को सुन्न पड़े अंग पर लगाएं। इससे सुन्नपन ख़तम हो जाएगा।

– पपीते या शरीफे के बीजों को पीसकर सरसों के तेल में मिलाकर सुन्न होने वाले अंगों पर धीरे-धीरे मालिश करने से भी आराम मिलता है।

आहार

अगर आपका शरीर बार बार सुन्न पड़ने लगता है तो आप अपने आहार में कई सारे विटामिन और मैग्नीशयम को ज़रूर शामिल करें।

व्यायाम

अगर आपका शरीर बार बार सुन्न पड़ने लगता है तो हर रोज़ व्यायाम करें। इससे शरीर में रक्त का संचार अच्छे से होने लगता है। इसके अलावा सप्ताह में 5 दिन के लिए 30 मिनट एरोबिक्स भी करें, जिससे आप हमेशा स्वस्थ बने रहेंगे।