हींग को अंग्रेजी में Asafoetida कहते हैं। गुणकारी हींग एक आयुर्वेदिक औषधि है। जो बहुत ही ख़ुशबूदार होती है। इसीलिए इसका उपयोग अचार में, मसालों में व तड़का लगाने के लिए करते हैं। बाज़ार में चार प्रकार की हींग मिल जाती है जैसे कन्धारी हींग, यूरोपीय वाणिज्य की हींग, भारतवर्षीय हींग और वापिंड़ हींग। इन हींग का रंग सफेद, हल्का गुलाबी, पीला व सुरखी मायल जैसा होता है।

शक्तिशाली एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण के कारण से हींग का उपयोग सौन्दर्य प्रसाधन उत्पादों में भी किया जाता है। इसके अलावा इसका उपयोग स्वास्थ्य के उपचार जैसे हाजमा ठीक करने के लिए, दांत दर्द को दूर करने के लिए, कमर दर्द व कान दर्द को दूर करने के लिए भी किया जाता है। तो आइए आज गुणकारी हींग के अनगिनत फ़ायदों के बारे में जानें…

हींग कैसे बनता है?

पर्वतीय क्षेत्रों में पाए जाने वाले फेरुल फोइटिडा _ Ferula foetida के पौधे को हल्का काट लेते हैं। जिससे एक चिकना रस निकलता है। इस रस को एक बर्तन में निकालकर सुखा लेते हैं। जब यह रस सूख जाती है तब स्वादिष्ट हींग प्राप्त होती है।

गुणकारी हींग
Hing asafoetida benefits in Hindi

गुणकारी हींग के लाभ

1. पाचन शक्ति बढ़ाए

अगर आपको अपच की समस्या है या पाचन शक्ति कमज़ोर है तो हींग, छोटी हरड़, सेंधा नमक और अजवाइन इन चारों को बराबर मात्रा में लेकर बारीक़ पीस कर चूर्ण बना लें। फिर रोज़ाना दिन में 3 बार एक चम्मच इस चूर्ण को गर्म पानी के साथ ले लें। इससे पाचन शक्ति ठीक हो जाती है।

2. भूख बढ़ाए

1 चम्मच देशी घी में थोड़ी हींग भून लें। अब थोड़े से अदरक के पेस्ट में, भुनी हुई हींग और मक्खन को एक साथ मिक्स कर लें। भोजन करने से पहले इस पेस्ट को रोज़ाना खाए। इससे भूख खुलकर लगने लगती है।

3. दांतों के कीड़े का इलाज

दांत में कीड़ा लग जाए तो गुणकारी हींग को हल्का गरम कर लीजिए। फिर इसे कीड़े लगे दांतों के नीचे दबाकर रखें। इससे दांत व मसूढ़ों के कीड़े मर जाएंगे।

4. दांत दर्द का उपचार

हींग को पानी में उबाल लें और फिर इस पानी से कुल्ला कर लें। इससे दांतों का दर्द धीरे धीरे दूर हो जाता है।

5. हिचकी बंद कीजिए

आधा ग्राम हींग को 5 चम्मच गुड़ के साथ सेवन करने से हिचकी आना रुक जाता है।

6. पेशाब की समस्या का समाधान

यदि आपको यूरीन में समस्या है तो हींग को सौंफ के अर्क के साथ मिलाकर रोज़ाना दिन में 2 बार सेवन करने से यह समस्या दूर हो जाती है।

7. कान दर्द का उपाय

कान में होने वाले दर्द से छुटकारा पाने के लिए हींग को तेल में पकाकर उस तेल को छानकर रख लें। रोजाना इस तेल की एक एक बूंद सुबह-शाम कान में डालने से कान दर्द चला जाता है।

8. फोड़ें फुंसी व चोट दर्द मिटाए

नीम की कोमल पत्तियां और गुणकारी हींग को एक साथ पीसकर फोड़े-फुंसी या चोट वाली जगह पर लगाए। इससे फोड़ें फुंसी व चोट का दर्द ठीक हो जाता है।

9. दाद से छुटकारा दिलाए

यदि आप दाद की समस्या से ग्रसित हैं तो हींग को सिरके के साथ पीसकर दाद वाली जगह पर लगाएं। इससे आपको बहुत आराम मिलेगा।

10. फटी हुई एड़ियों का दर्द से आराम

नीम के तेल में हींग डालकर इसे फटी हुई एड़ियों पर लगाए। इससे फटी हुई एड़ियों का दर्द ठीक हो जाता है और एड़ियां मुलायम हो जाती है।

11. मासिक धर्म के दर्द में आराम दिलाए

मासिक धर्म के दौरान होने वाले दर्द को कम करने के लिए आधा ग्राम भुनी हुई हींग को तीन दिन तक सुबह पानी के साथ लें। इससे दर्द ठीक हो जाएगा।

12. ज़हर के असर ख़त्म करे

अगर किसी ने जहर खा लिया हो तो उस जहर के असर को ख़तम करने के लिए हींग को पानी में घोलकर पिला दीजिए। इससे उल्टी होने लगेगी और उल्टी के द्वारा सारा जहर शरीर से बाहर निकल जाएगा।

13. पागल कुत्ते के काटने का उपाय

पागल कुत्ता काट लें तो उस जगह तुरन्त हींग को पानी में पीसकर लगा दीजिए। इससे पागल कुत्ते के काटने का विष समाप्त हो जाता है।

हींग के नुकसान

अगर हींग का उचित मात्रा में उपयोग किया जाए तो वह सेहत को लाभ पहुँचाती है, लेकिन अगर उसका ज़्यादा से ज़्यादा इस्तेमाल किया जाए तो वह सेहत को लाभ पहुँचाने के बजाय नुकसान पहुँचाने लगती है।

हींग का ज़्यादा से ज़्यादा उपयोग करने से
– होंठ सूज सकते हैं
– गैस की समस्या उत्पन हो सकती है
– त्वचा लाल पड़ने लगती है
– उच्च या निम्न रक्तचाप की समस्या आदि होने लगती है। इसीलिए हींग का उचित मात्रा में ही उपायोग करें।