औषधीय गुणों वाला एलो वेरा का पौधा आप आंगन या गमले में उगा सकते हैं और दैनिक जीवन में प्रयोग करके इससे स्वास्थ्य लाभ ले सकते हैं। इसके गुणों का जितना बखान किया जाए कम है, लेकिन कुछ ऐसे लाभ हैं जिनको जानकार आप इसे प्रयोग करने लगेंगे। आइए आपको ऐलो वेरा के अविश्वसनीय 14 लाभ बताते हैं।

एलो वेरा के लाभ

एलो वेरा के 14 लाभ

1. वज़न घटाये

डायटिंग और कसरत करके थक चुके लोगों के लिए एलो वेरा प्राकृतिक रूप से वज़न कम करने में हेल्प करता है। एक गिलास ऐलो वेरा जूस मेटाबलिज़्म रेट को नियंत्रित करता है, जिससे एक्सट्रा फ़ैट बर्न करके मदद मिलती है। इसलिए एलो वेरा जूस का सेवन करना शुरु कर दें।

2. इम्यूनिटी बढ़ाये

सुबह एलोवेरा जूस पीने से एनर्जी मिलती है, जिससे दिन भर ताज़गी और चुस्ती फ़ुर्ती बनी रहती है। ऐसा इसलिए क्योंकि यह रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा देता है। ऐलो वेरा से बहुत से पोषक तत्व, विटामिन और खनिज लवण मिलते हैं जो एंटी बॉडीज़ से लड़ने में सहायक होते हैं।

3. कैंसर का उपचार

एलो वेरा कैंसर सेल की ग्रोथ को कम करता है। अगर 10 मिली एलो वेरा का जूस, 10 मिली गिलोए का रस, 10 मिली ग्राम गेहूँ का ज्वारा, 8 तुलती से पत्ते और 3 नीम के पत्तों से बना जूस सुबह शाम पिया जाए तो कैंसर जैसी लाइलाज बीमारी से भी लड़ा जा सकता है।

4. फटी एड़ियों का उपचार

जब एड़ियाँ फट जाए और उसमें दर्द महसूस हो तब आप क्या करते हैं? बाज़ार से कोई क्रैक क्रीम ख़रीदकर लगाते हैं? अगर इसकी जगह आप सोने से पहले फटी एड़ियों पर एलो वेरा जेल की मालिश करेंगे तो वह मुलायम होकर एकदम ठीक हो जायेंगी।

5. दांत मसूढ़े का उपचार

एलो वेरा जेल से दांतों को सफ़ाई करने से मुँह में ताज़गी आती है। इसके साथ ही दाँतों की कैविटी, दाग़ धब्बे आदि में दूर हो जाते हैं। मसूढ़ों में ऐलो वेरा जेल की मालिश करने से दर्द में आराम मिलता है। साथ ही मसूढ़े मज़बूत भी होते हैं।

6. आंखों में जलन

देर तक कम्प्यूटर पर काम करने, आँखें गड़ाकर टीवी देखने या फिर नींद पूरी न होने से आँखों में जलन होने लगती है। इसका उपचार भी एलो वेरा कर सकता है। दो चम्मच एलोवेरा जेल को एक कप ठंडे पानी में मिलाकर आंखें धुलने से जलन कम हो जाती है और आँखों को ठंडक मिलती है।

7. पेट की समस्याओं का उपचार

पेट ख़राब हो तो उसका असर हमारे पूरे शरीर पर पड़ता है। ऐलो वेरा जूस का सेवन करने से कब्ज़, गैस, पेट में जलन और एसिडिटी की परेशानी में आराम मिलता है। साथ ही साथ बवासीर में फ़ायदा पहुंचता है।

8. घाव का उपचार

जब त्वचा कट फट जाए या कोई काट लें और आपको जलन हो रही हो तब एलो वेरा जेल लगाने से त्वचा का लालपन चला जाता है और घाव जल्दी भर जाते हैं।

9. रक्तचाप और कोलेस्ट्रोल नियंत्रण

ऐलो वेरा की पत्तियों का गूदा खाने या उसका जूस पीने से रक्त चाप और कोलेस्ट्रॉल दोनों नियंत्रित रहते हैं।

10. जोड़ों के दर्द में आराम

गठिया का दर्द बहुत पीड़ादायक होता है। इससे जोड़ों में दर्द के साथ सूजन भी आ जाती है। गठिया के रोगियों को एलो वेरा जेल से घुटनों की मालिश करनी चाहिए इससे दर्द के साथ साथ सूजन भी कम हो जाती है।

11. एनीमिया में लाभदायक

एलोवेरा के नियमित सेवन से शरीर में ख़ून की कमी नहीं होती है। जिससे एनीमिया से छुटकारा मिल सकता है।

12. पीलिया का उपचार

पीलिया होने पर यदि 15 ग्राम ऐलो वेरा का रस सुबह शाम पिया जाए तो यह ठीक हो सकता है। मूत्र सम्बंधित रोग या गुर्दे से जुड़े रोगों में एलो वेरा लाभदायक होता है।

13. मधुमेह का उपचार

डायबिटीज़ के मरीज़ों को भी एलो वेरा का सेवन करना चाहिए क्योंकि इससे ख़ून में शर्करा का स्तर घटता है।

14. साइनस से आराम

एलो वेरा मैग्नीशियम का प्राकृतिक स्रोत है। जिन्हें साइनस में दवा से आराम न मिले उन्हें ऐलो वेरा का प्रयोग करना चाहिए। यह साइनस का आयुर्वेदिक इलाज है।