Home होम्योपैथिक उपचार
लत कोई भी हो, नुक़सान ही करती है। यदि नशे की लत हो तो बहुत नुक़सान करती है। इससे स्‍वास्‍थ्‍य और पैसा दोनों बर्बाद होता है। शुरू में तो शौक वश व्‍यक्ति इसका सेवन करता है लेकिन बाद में...
कभी–कभी तेज़ बुखार में चलने वाली दवाइयों से लीवर की सूजन (अंग्रेजी: Enlarged liver) हो जाती है। या पीलिया हुआ तो भी यह समस्‍या उत्‍पन्‍न हो जाती है। इसके और भी कारण हो सकते हैं। जब लीवर में सूजन...
होम्‍योपैथ पूर्णत: प्राकृतिक चिकित्‍सा पद्धति है। पेड़-पौधों के अर्क से बनाई गई इसकी औषधियां बड़े काम की हैं। यदि लक्षणों को चिकित्‍सक ने ठीक से पकड़ लिया तो रोग को विदा होने में समय नहीं लगता है। दूसरे इसका...
चोट लगने पर, गिरने आदि में हड्डी में फ्रैक्‍चर हो जाता है। यह सामान्‍य घटना है। हड्डी का फ्रैक्चर छोटा हो या बड़ा, ठीक होने में 45 दिन लेता ही है। उसके बाद भी पूरी तरह ठीक नहीं हो...
सर्वाइकल स्पॉन्डिलोसिस यानि गर्दन कंधे का दर्द अब एक सामान्‍य बीमारी होती जा रही है। यह बीमारी जिसे हो जाती है, उसे एक तो हमेशा दवा खानी पड़ती है और साथ ही गले में एक पट्टा (कॉलर) भी लगाना...
आम जनमानस का झुकाव अब प्राकृतिक चिकित्सा पद्धतियों की ओर होने लगा है। अंग्रेजी दवाओं के साइड इफ़ेक्ट अब लोगों को सोचने पर मज़बूर कर रहे हैं। महत्वपूर्ण प्राकृतिक चिकित्सा पद्धतियों में होम्योपैथ का विशेष स्थान है। आइए जानते...
आमतौर पर किडनी यानी गुर्दा की किसी भी समस्‍या यानी छोटी से छोटी समस्‍या में भी व्‍यक्ति घबरा जाता है। कारण यह कि यदि यह समस्‍या बढ़ी तो फिर किडनी ट्रांसप्‍लांट के अलावा कोई उपाय नहीं है। इसमें कई...
पैर की नस का सिकुड़ना आमतौर पर सामान्‍य बीमारी नहीं है। यह किसी-किसी को होती है। लेकिन जिसे हो जाती है, वह लाख दवा कराए, यह पूरी तरह ठीक होने का नाम नहीं लेती है और दर्द बना रहता...
सभी माँ-बाप चाहते हैं कि वे कम से कम एक बच्‍चे के माता-पिता बनें और उसका पालन पोषण करें। माता-पिता बन भी गए और एक समय बीत जाने के बाद जब बच्‍चा न खड़ा हो सके और न ही...
पेट की गर्मी एक सीमा तक बर्दाश्‍त होती है। जब यह बढ़ जाती है तो पेट में जलन शुरू हो जाती है और इससे परेशान व्‍यक्ति करवट भी नहीं बदल पाता। पेट की गर्मी बढ़ गई तो दस्‍त भी...

STAY CONNECTED

11,948FansLike
6,094FollowersFollow
312FollowersFollow

Latest Lifestyle Tips